दक्षिणपंथी समर्थकों द्वारा लंदन में NDTV के पत्रकार को करना पड़ा उत्पीड़न का सामना, देखिए वीडियो

1

देश का जाना माना न्यूज चैनल NDTV के एक पत्रकार ने रविवार को ट्विटर पर आरोप लगाया कि कैसे पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में भारतीयों के एक समूह ने लंदन में उसका उत्पीड़न किया था। राधिका अय्यर ने आरोप लगाया कि उन्हें NDTV के लिए काम करने के लिए ‘हूट’ किया गया।

NDTV

राधिका अय्यर ने अपने ट्वीट में लिखा, ”मैं जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले के खिलाफ लंदन में कुछ भारतीयों द्वारा किए गए विरोध मार्च में थी। जब भीड़ ने मुझ पर हमला किया, उस समय मैं कुछ लोगों का इंटरव्यू ले रही थी। मुझे एनडीटीवी से जुड़े रहने के लिए ‘हूट’ किया किया। एक महिला ने कहा ‘आप यहां नहीं हो सकते’। एक आदमी ने कहा अगर आप भारतीय हैं, तो भारत माता की जय बोलिए।”

एक अन्य ट्वीट में राधिका अय्यर ने लिखा, आतंकवाद के खिलाफ लंदन में भारतीयों और भारतीय मूल के लोगों का विरोध था। इसी बाच, अचानक उनका ध्यान मुझ पर केंद्रित किया हो गया कि मैं किस मीडिया चैनल से जुड़ी हूं। मैंने अपने स्वयं के साथी भारतीयों के बीच बहुत कमज़ोर, संवेदनशील और अलग-थलग महसूस किया!

एक ट्विटर यूजर प्रदीप अग्रवाल ने उनके ट्वीट का जवाब दिया और विरोध का वीडियो पोस्ट किया। उन्होंने लिखा, “यह गलत है। मैं वहां था, NDTV के खिलाफ बहुत कम लोग चिल्लाए थे मैं सहमत हूं लेकिन आप पर ‘हूट’ नहीं हुआ।”

वीडियो में लोगों का एक समूह दिख रहा है, जो पुलवामा हमले का विरोध कर रहें है। वीडियो में दिख रहा है कि कुछ लोग ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद, पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के नारे लगा रहें है। इसी बीच, एक व्यक्ति एनडीटीवी के नारे लगाने लगता है, जिसपर लोग हाय… हाय कहने लगते है।

गौरतलब है कि गुरुवार (14 फरवरी) की शाम जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें 42 जवान शहीद हो गए। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है, हर कोई शहादत को नमन कर रहा है। इस घटना की पूरे विश्व भर में निंदा हो रहीं है।

बॉलिवुड की लगभग सभी बड़ी हस्तियों ने सोशल मीडिया के जरिए इस अटैक में शहीद होने वाले सैनिकों और उनके परिवारों के लिए दुख जताया है और सुरक्षाबलों पर हुए इस कायराना आतंकी हमले पर गुस्सा जाहिर किया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here