एक युग का अंत: ‘अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा देने वाले अजय सिंह बनेंगे NDTV के नये मालिक

0

NDTV का सौदा 600 करोड़ रूपये में हो गया है। इसी के साथ एक मीडिया के एक युग का अंत हो गया। पिछले दिनों आर्थिक तंगी के दौर से गुजरने वाले NDTV को अब नया स्वरूप दे दिया जाएगा। चैनल के नये मालिक होगें स्पाइसजेट के सह-संस्थापक और मालिक अजय सिंह

आपको बता दे कि अजय सिंह 2014 में बीजेपी की चुनाव प्रचार की कोर टीम में शामिल थे। नरेन्द्र मोदी के सर जीत का सेहरा बांधने वाले अजय सिंह ने ही ‘अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा दिया था।

कुल सौदा करीब 600 करोड़ रुपये में हुआ बताया जा रहा है। सौदे में करीब 100 करोड़ तक नकद रॉय दंपति को मिल सकता है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, स्पाइसजेट के चेयरमैन और मैनेजिंग एडिटर अजय सिंह के पास एनडीटीवी के करीब 40 प्रतिशत शेयर होंगे। प्रणय रॉय और राधिका रॉय के पास करीब 20 प्रतिशत शेयर होंगे।

आपको बता दे कि पूर्व में इनकम टैक्स अपीलीय ट्रिब्यूनल (आईटीएटी) ने एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय को कर चोरी और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए दोषी ठहराया था।

बता दें कि सीबीआई ने 5 जून, 2017 को प्रणय रॉय के घर पर तलाशी ली। सीबीआई के मुताबिक छापे दिल्ली के दो, देहरादून के एक और मसूरी के एक परिसर में ली गई। CBI ने प्रणय रॉय, राधिका रॉय और आरआरपीआर होल्डिंग्स के खिलाफ एक प्राइवेट कंपनी और आईसीआईसीआई बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने के आरोप में केस दर्ज किया था।

लेकिन अब स्पाइसजेट के सह-संस्थापक और मालिक अजय सिंह एनडीटीवी के सबसे बड़े शेयर धारक बनेगें। इंडियन एक्सप्रेस ने जब एनडीटीवी के सूत्र से पूछा कि क्या चैनल स्पाइसजेट के अजय सिंह को बेचा जा चुका है? तो जवाब मिला, “हाँ, सौदा पक्का हो चुका है और संपादकीय अधिकार के साथ चैनल का नियंत्रण अजय सिंह के हाथ में होगा।”

इसके अलावा आपको बता दे कि पूर्व में निधि राजदान ने अपने शो से बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा को बाहर कर दिया था। जिसके बाद लोगों ने निधि राजदान के इस कदम की सराहना की थी। अब इस घटना को ही छापेमारी का जिम्मेदार मानते हुए सोशल मीडिया पर संबित पात्रा को ट्रोल किया जाने लगा था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here