“अर्नब गोस्वामी अब उद्धव ठाकरे और मुंबई पुलिस कमिश्नर को पहले की तरह ललकारते हैं या नहीं?”: NDTV के एंकर रवीश कुमार ने अपने शो ‘प्राइम टाइम’ में ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक पर कसा तंज

0

अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी और ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) के पूर्व कार्यकारी अधिकारी पार्थ दासगुप्ता के कथित व्हाट्सएप चैट बीतें कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसको लेकर अब सियासी घमासान मच गया है। इन चैट में कथित तौर पर पुलवामा और बालाकोट हमले का भी जिक्र है। इन चैटों को लेकर अर्नब गोस्वामी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं, लोग उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं। राहुल गांधी ने भी मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मामले को उठाया और कहा कि इस तरह के संवेदनशील मामलों की जानकारी सिर्फ प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री, एनएसए और वायु सेना प्रमुख को होती है, ऐसे में आखिर अर्नब गोस्वामी तक यह जानकारी कैसे पहुंची और किसने दी? यह बेहद गंभीर मसला है। राहुल गांधी ने कहा था कि यह एक क्रिमिनल एक्ट है।

अर्नब गोस्वामी

बता दें कि, टीआरपी के कथित घोटाला मामले में गिरफ्तार BARC के पूर्व CEO पार्थ दासगुप्ता और अर्नब गोस्वामी के कथित व्हाट्सएप चैट में अर्नब गोस्वामी ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में CRPF के वाहन पर हुए आंतकी हमले पर भी कथित तौर पर टिप्पणी की थी। 14 फरवरी 2019 की एक कथित चैट में गोस्वामी BARC के पूर्व से कहते हैं कि, इस हमले से हमारी बड़ी जीत हुई हैं। वहीं, कुछ अन्य चैटों में अर्नब गोस्वामी ने कथित तौर पर बालाकोट में भारतीय सेना द्वारा किए गए एयर स्ट्राइक की जानकारी पहले से होने का भी दावा कर रहे है।

समाचार चैनल ‘एनडीटीवी इंडिया’ के मशहूर एंकर और भारत के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने भी अर्नब गोस्वामी के इस कथित व्हाट्सएप चैट पर अपनी टिप्पणी दी है। रवीश कुमार ने अपने शो ‘प्राइम टाइम’ में भी इस मामले को उठाया और कहा कि इस कथित चैट पर सरकार को अब तक स्पष्टीकरण दे देना चाहिए था, एनआईए को संज्ञान लेना चाहिए था। 16 जनवरी से यह खबर सोशल मीडिया में वायरल है। यह चिंता से आगे की बात है, राष्ट्रीय सुरक्षा की गंभीर योजना में टीवी चैनल को शामिल किया गया। इससे करोड़ों लोगों के विवेक पर हमला किया गया और चैनल ने करोड़ों रुपए कमाने का जुगाड़ किया।

अर्नब गोस्वामी की कथित लीक चैट पर राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस का जिक्र करते हुए रवीश कुमार ने कहा कि, ‘राहुल गांधी ने अर्नब गोस्वामी को मिस्टर अर्नब गोस्वामी कहा। अर्नब गोस्वामी अपने शो में राहुल गांधी का नाम कैसे लेते हैं, आपको पता होगा और बहुतों को यह अच्छा भी लगता होगा। अर्नब इसी तरह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का नाम लिया करते थे। मुंबई पुलिस के कमिश्नर को किस तरह नाम लेकर अपने शो में बुलाते थे, उस पर अब आप गौर नहीं करना चाहेंगे, लेकिन बहुतों को अच्छा लगता था।

रवीश ने अर्नब गोस्वामी पर तंज कसते हुए पूछा, “वैसे पता नहीं अर्नब गोस्वामी अब उद्धव ठाकरे और मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह को पहले की तरह नाम लेकर ललकारते हैं या नहीं?”

राहुल गांधी ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मंगलवार को कहा था कि बालाकोट हमले की जानकारी सिर्फ पांच लोगों को ही हो सकती है। प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री, एयरफोर्स चीफ या राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार। उन्होंने कहा कि, अर्नब गोस्वामी को बालाकोट हमले की जानकारी इन्ही पांच लोगों में से ही कोई दे सकता है और जिसने बालाकोट हमले की जानकारी दी उसके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। राहुल गांधी ने कहा कि, अगर अर्नब गोस्वामी को बालाकोट एयर स्ट्राइक के बारे में पता था, तो मुझे लगता है कि पाकिस्तान को भी इसकी जानकारी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here