“बिहार के 18 ज़िलों के सरकारी अस्पताल में ICU नहीं, स्वास्थ्य मंत्री नाम का प्राणी काम क्या करता होगा?”, वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार का पोस्ट वायरल

0

बिहार में इस समय विधानसभा चुनाव के चलते राजनीतिक माहौल गर्म है, चुनावी रैलियां और जनसभाओं का दौर भी लगातार जारी है। इस विधानसभा चुनाव में जहां एक तरफ नीतीश कुमार के नेतृत्व में NDA आगे बढ़ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेतृत्व में महागठबंधन भी सत्ता को पाने की कोशिश कर रहा है। हिंदी समाचार चैनल ‘एनडीटीवी इंडिया’ के मशहूर एंकर और भारत के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने अपने फेसबुक पोस्ट पर एक चौंकाने वाला आंकड़ा बताया है। रवीश ने लिखा कि बिहार के 18 ज़िलों के सरकारी अस्पताल में ICU की सुविधा ही नहीं है।

बिहार

रवीश कुमार ने नीतीश कुमार की सरकार पर सवाल खड़े करते हुए अपने पोस्ट में लिखा कि किसी भी सरकार को ठोस काम करने के लिए 15 साल एक लंबा वक्त होता है। वरिष्ठ पत्रकार ने अपने पोस्ट में लिखा, “15 साल एक लंबा वक्त होता है किसी सरकार को ठोस काम करने का। बेशक नीतीश के इस कार्यकाल में सड़कें बनीं और बिजली पहुँची लेकिन इसी काम के आस पास नीतीश ने 15 साल काट लिए। कम से कम उन्हें स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए। मशीनें ख़रीद कर अस्पताल में पड़ी हैं मगर डॉक्टर नहीं हैं। कहीं इमारत 13 साल से बनती रही है।”

रवीश ने अपने पोस्ट में आगे लिखा, “सोचिए बिहार के 18 ज़िलों के सरकारी अस्पताल में ICU नहीं है। यह जवाब सरकार ने ही 2017 में विधानसभा में दिया था। फिर स्वास्थ्य मंत्री नाम का प्राणी काम क्या करता होगा? नालंदा तो नीतीश कुमार का ज़िला है। यहाँ के एक अस्पताल में करोड़ों रुपये की मशीनें और बिस्तर धूल खा रहे हैं।”

एनडीटीवी के एंकर ने आगे लिखा, “काश कालेजों और अस्पतालों में काम हुआ होता तो जनता की तकलीफ़ कम हुई होती। आज नीतीश और बीजेपी को 15 साल पुराने शासन काल की बात नहीं करनी पड़ता। दरअसल सड़क और बिजली की व्यवस्था करके भी नीतीश ने बिहार को 30 साल पीछे पहुँचा दिया है। आप इस रिपोर्ट को देखें। सोच कर ही घबराहट होती है कि बिहार की आम जनता बीमारी के वक्त किस तूफ़ान से गुजरती होगी।”

रवीश कुमार का यह फेसबुक पोस्ट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, उसके इस पोस्ट पर यूजर्स भी जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। बता दें कि, रवीश हम मुद्दें पर खुलकर अपनी बात रखते है।

गौरतलब है कि, बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा के लिए तीन चरणों में चुनाव हो रहे हैं। पहले चरण का मतदान हो गया गया है। पहले चरण के तहत 28 अक्टूबर को राज्य के 71 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ है। वहीं, तीन नवंबर को दूसरे चरण का मतदान 94 सीटों पर होगा। सात नवंबर को तीसरे चरण का मतदान 78 विधानसभा सीटों पर होगा। वहीं, 10 नवंबर को वोटों की गिनती होंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here