आखिर क्यों फूट-फूट कर रोने लगे पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी?

0

रविवार को एक बार फिर उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के दिग्गज नेता एनडी तिवारी के आंसू सार्वजनिक तौर पर छलक पड़े। तिवारी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट रहे डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय पहुंचे थे जहां सुशीला तिवारी अस्पताल का निरीक्षण करने करने के दौरान एनडी तिवारी अस्पताल में व्याप्त बदहाली, और गंदगी का आलम देख फूट-फूट कर रोने लगे।

एनडी तिवारी

बेटे रोहित शेखर तिवारी के साथ रविवार दोपहर करीब एक से तीन बजे तक एनडी तिवारी ने एसटीएच में रहे। इस दौरान स्त्री एवं प्रसूति रोग वार्ड के बाहर गंदगी देखकर एनडी पहले नाराज हुए फिर रोने लगे। बाहर निकलते हुए उन्होंने कुमाऊं के इस सबसे बड़े अस्पताल में सेंट्रल कैंटीन के सामने कूड़े का ढेर दिखा तो फूट-फूट कर रो पड़े।

मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक, अस्पताल में दो घंटे के दौरान उनकी आंखों से तीन बार आंसू निकले और इस भावुक स्थिति को देख अस्पताल प्रबंधन सकते में आ गया। अस्पताल में दो घंटे के दौरान उनकी आंखों से तीन बार आंसू निकले और इस भावुक स्थिति को देख अस्पताल प्रबंधन सकते में आ गया।

इस बारे में राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सीपी भैंसोड़ा ने बताया कि सफाई का कांट्रेक्ट पूरा हो गया था। इसलिए कूड़ा बिखरा था। इसे हटाया जा रहा है। सफाई के लिए नया टेंडर कराया जा रहा है।

जबकि पूर्व सीएम एनडी तिवारी ने कहा कि मुझे बहुत दु:ख हो रहा है। अस्पताल की यह हालत हो गई। अस्पताल को देखने की जरूरत है। इसके सुधार के लिए सर्वे होना चाहिए। हिमालयन पॉलिसी के तहत भी विकास होना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here