जया बच्चन पर विवादित टिप्पणी कर चौतरफा घिरे BJP नेता नरेश अग्रवाल ने लिया ‘यू टर्न’

0

सोमवार(12 मार्च) समाजवादी पार्टी(सपा) छोड़कर भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में शामिल होने के बाद जया बच्चन पर विवादित बयान देने वाले नरेश अग्रवाल ने चौतरफा निंदा के बाद अपने बयान के लिए खेद जताया है।

file photo- Times of India

नरेश अग्रवाल ने मंगलवार(13 मार्च) को मीडिया से बात करते हुए जया पर दिए बयान पर सफाई देते हुए कहा कि, ‘मेरे बयान से किसी को कोई कष्ट हुआ है तो मुझे उसका खेद है। मैं किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहता हूं और खेद जताता हूं।’

ख़बरों के मुताबिक, पत्रकारों द्वारा बार-बार माफी मांगने के सवाल पर अग्रवाल ने अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगी और उन्होंने उल्टे पत्रकारों से पूछा, ‘खेद शब्द का मतलब समझते हैं आप?’

बता दें कि, नरेश अग्रवाल के बयान पर उनकी बीजेपी समेत चौतरफा निंदा हो रही है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी बीजेपी नेता रूपा गांगुली ने अग्रवाल के बयान की निंदा की है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा था कि, “श्री नरेश अग्रवाल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। उनका स्वागत है। लेकिन जया बच्चन जी के विषय में उनकी टिप्पणी अनुचित एवं अस्वीकार्य है।”

स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर कहा कि, जब भी महिलाओं के सम्मान को चुनौती दी जाएगी, तब विचारधारा की लड़ाई छोड़ सभी को एकजुट होना चाहिए। साथ ही उन्होंने संजय निरूपम द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर पांच साल के चल रहे केस का जिक्र करते हुए कहा कि किसी भी महिला को अपमानित करने पर वे सभी विरोध करेंगी।

वहीं, बीजेपी नेता रूपा गांगुली ने नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा करते हुए कहा कि ये स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं जया बच्चन जी का सम्मान करती हूं, फिल्म इंडस्ट्री में जया बच्चन के योगदान पर मुझे फक्र है, उन्होंने कहा यह बीजेपी की लीडरशिप नहीं है।

वहीं, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘श्रीमती जया बच्चन जी पर की गयी अभद्र टिप्पणी के लिए हम बीजेपी के श्री नरेश अग्रवाल के बयान की कड़ी निंदा करते है। ये फिल्म जगत के साथ ही भारत की हर महिला का भी अपमान है। बीजेपी अगर सच में नारी का सम्मान करती है तो तत्काल उनके ख़िलाफ कदम उठाये, महिला आयोग को भी कार्रवाई करनी चाहिए।’

बता दें कि, राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल सोमवार(12 मार्च) समाजवादी पार्टी(सपा) छोड़कर भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में शामिल हो गए थे। दिल्ली में उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। बता दें कि, हाल ही में राज्यसभा के लिए अभिनेत्री जया बच्चन को तरजीह दिए जाने से नरेश अग्रवाल सपा से नाराज चल रहे थे।

सोमवार को उन्होंने इस बात का इजहार भी किया और सीधे तौर पर पार्टी पर आरोप लगाया कि फिल्म में काम करने वाले को टिकट दिया गया, जबकि राजनीति करते आ रहे पार्टी के नेता का टिकट काट दिया गया। जया बच्चन को तरजीह देने पर सपा को निशाना बनाते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने उनकी तुलना फिल्म अभिनेत्री से की है जो फिल्मों में नाचती थी। अपने बयानों को लेकर पहले भी विवादों में रहे अग्रवाल के बीजेपी में शामिल होने के लिए पार्टी मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया, जहां उन्होंने यह टिप्पणी की। इस दौरान केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल सहित कई वरिष्ठ बीजेपी नेता मौजूद थे।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक अग्रवाल ने कहा कि, ‘‘मेरी तुलना फिल्मों में नाचने और काम करने वाले लोगों (जया बच्चन) के साथ की गई।’’ इससे मंच पर मौजूद बीजेपी नेता असहज हो गए। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने अग्रवाल की टिप्पणी से तुरंत पार्टी को अलग बताया और कहा कि उनकी पार्टी सभी क्षेत्रों के लोगों का सम्मान करती है और राजनीति में उनका स्वागत करती है। अग्रवाल ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और उनके भाई रामगोपाल यादव के प्रति भी सम्मान दिखाया, लेकिन कहा कि उत्तर प्रदेश में पार्टी का जनाधार कमजोर हुआ है।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी प्रमुख अमित शाह की भी प्रशंसा की और दावा किया कि उनके समुदाय के लोग भगवा दल के साथ मजबूती से खड़े हैं। अग्रवाल ने यह भी कहा कि राज्यसभा चुनावों में उनका विधायक बेटा बीजेपी के पक्ष में मतदान करेगा। राज्यसभा सदस्य के तौर पर अग्रवाल का कार्यकाल दो अप्रैल को खत्म हो रहा है। बता दें कि, समाजवादी पार्टी ने जया बच्चन को एक बार फिर राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here