VIDEO: ‘नरेंद्र मोदी का मुसलमानों से रिश्ता क्या है और मुस्लिम BJP पर भरोसा क्यों नहीं कर पाते हैं?’ प्रधानमंत्री ने पहली बार इस सवाल पर तोड़ी चुप्पी

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (5 अप्रैल) को एबीपी न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि वह कभी भी हिंदू और मुसलमानों के बीच अंतर नहीं करते हैं। चैनल से बात करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने कभी भी भारतीयों को धर्म के चश्मे से नहीं देखा। बता दें कि अभी हाल ही में पीएम मोदी को महाराष्ट्र में एक रैली में हिंदुओं को भड़काते हुए देखा गया था, इसके मद्देनजर पीएम मोदी का यह बयान काफी अहम है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जब पूछा गया कि मुसलमानों के साथ आपका क्या संबंध है और मुसलमान बीजेपी पर भरोसा क्यों नहीं कर पाता है, क्या वजह है? इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ”मैं एक अनुभव बताता हूं। मनमोहन सिंह की सरकार ने एक सच्चर कमेटी बनाई थी और वो सच्चर कमेटी गुजरात आई थी। मैं मुख्यमंत्री था तो सच्चर कमेटी के सारे मेंबर्स बैठे थे।”

उन्होंने आगे कहा, “मेरी सरकार के सारे अधिकारी बैठे थे और वो अपना रिपोर्ट तैयार कर रहे थे। उन्होंने मुझसे पूछा कि मोदी जी आपकी सरकार ने मुसलमानों के लिए क्या किया? मैंने उनको जवाब दिया था, मेरी सरकार ने मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया है और कुछ भी नहीं करेगी और फिर मैंने कहा लेकिन आगे सुन लीजिए। मेरी सरकार ने हिंदुओं के लिए भी कुछ नहीं किया है और हिंदुओं के लिए भी कुछ नहीं करेगी। मेरी सरकार गुजरात के सभी नागरिकों के लिए काम करती है और मेरी सरकार सब नागरिकों के लिए काम करेगी।”

उनकी यह टिप्पणी महाराष्ट्र में एक चुनावी रैली के दौरान हिंदुओं को भड़काने के आरोप लगने के कुछ दिनों बाद आई है, जहां उन्होंने आरोप लगाया था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायनाड से चुनाव लड़ने का फैसला इसलिए किया है क्योंकि वहां हिंदू ‘अल्पसंख्यक’ हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार, वायनाड में रहने वाले हिंदुओं का प्रतिशत 50 फीसदी के करीब था, इस वजह से उनकी टिप्पणियां तथ्यात्मक रूप से गलत थीं। ऐसे ही 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भी उन्होंने तत्कालीन समाजवादी पार्टी की सरकार पर हमला करते हुए शमशान और कब्रिस्तान का जिक्र किया था, जिस वजह से उन्हें काफी आलोचना का सामना करना पड़ा।

‘मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए’ जैसे बीजेपी नेताओं बयानों पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहली बात है कि मैं कभी भी इस प्रकार की भाषा को स्वीकार नहीं करता। मेरी पार्टी इस तरह के बयान देने वालों पर कार्रवाई करती है।
एबीपी पत्रकार ने उन्हें याद दिलाया कि उन्होंने उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की। जिस पर, मोदी ने जवाब दिया, “कौन कहता है कि हम उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करते हैं। मेरी पार्टी उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करती है। क्या इसे केवल तभी कार्रवाई माना जाएगा जब यह मीडिया में प्रकाशित हो? ”

यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी पार्टी को समुदाय के लोगों और दिलों को जीतने के लिए अधिक मुस्लिम उम्मीदवारों को मैदान में उतारना चाहिए था। मुसलमानों को बीजेपी उम्मीदवार कम बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम उम्मीदवार बनाते हैं. हमने तो अब्दुल कलाम साहब को राष्ट्रपति बनाया था। हम तो करते ही हैं। हमें तो कोई दिक्कत नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here