नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद के नारे से गूंज उठा दिल्ली विधानसभा का आपात सत्र

0
मंगलवार को दिल्ली विधानसभा के आपात सत्र का आरम्भ नरेन्द्र मोदी मुर्दाबाद के नारे के साथ हुआ। विधायकों ने लगातार चिल्लाते हुए पीएम मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। नोटबंदी के फैसले पर चर्चा के लिए इस विशेष सत्र का आयोजन किया गया था।
सभी आम आदमी पार्टी के विधायकों द्वारा चिल्लाकर नरेन्द्र मोदी मुर्दाबाद के नारे लगाए जा रहे थे। दिल्ली विधानसभा के 67 विधायकों में से 4 बीजेपी विधायक है। आपात सत्र में जोरदार हंगामें के बीच विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को मजबूरन संक्षिप्त कार्यवाही के पश्चात ही सभा स्थगित करनी पड़ी।
नरेंद्र मोदी
सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने नोटबंदी को लेकर आपात सत्र की घोषणा की थी। जबकि इससे पहले उन्होंने देश में आपातकाल के जैसी स्थिति का होना बताया था।
उन्होंने पीएम मोदी की कड़क चाय की टिप्पणी को फेड जहर बताया था व आगे इस पर बोलते हुए कहा कि दिल्ली सरकार अपने स्वयं सेवको को लोगों की सहायता करने के लिए उतारेगा, जो घटों एटीएम और बैंकों की लाइनों में लगे हुए है। उनके लिए सूक्ष्म जलपान की व्यवस्था भी वहीं कराई जाएगी तथा फार्म भरने इत्यादी में उन सबकी सहायता की जाएगी।
आम आदमी पार्टी के मुखिया ने वित्त मंत्री अरूण जेटली की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने अपनी साख को खो दिया है। अपनी इस योजना को लागू करने के लिए सरकार के पास की ठोस नीतियों का अभाव था। जिसके चलते नोटबंदी की योजना अपने मकसद में असफल साबित हुई।
जबकि इसके विपरित बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि भारत का गरीब चैन की नींद सो रहा है। लेकिन वास्तवकिता में भारत का आमजन रात और दिन बैंकों  और एटीएम के बाहर लाइनें लगाए हुए खड़ा है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस बारें में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कड़क चाय के नाम पर लोगों जहर पिला दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here