पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की दोषी नलिनी श्रीहरन ने जेल में की आत्महत्या की कोशिश

0

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में जेल में उम्र कैद की सजा काट रही नलिनी श्रीहरन ने जेल में आत्महत्या करने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि बीती रात उसका जेल में बंद दूसरी कैदी के साथ झगड़ा हुआ था, जिसके बाद नलिनी ने खुदकुशी जैसा कदम उठाने की कोशिश की। फिलहाल उसका जेल के अस्पताल में इलाज चल रहा है।

राजीव गांधी

सोमवार को हुए झगड़े के बाद, जेल अधिकारियों ने नलिनी श्रीहरन से इस घटना के बारे में पूछा, जिसके बाद उसने कथित तौर पर अपने गले में कपड़े का टुकड़ा बांधकर आत्महत्या करने की कोशिश की। हालांकि, इस मुद्दे को सुलझा लिया गया। राजीव गांधी हत्याकांड की आरोपी नलिनी श्रीहरन जेल में 29 सालों से है और ऐसा कदम कभी नहीं उठाया। जेल सूत्रों के मुताबिक, उसके पति मुरुगन ने नलिनी को दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की है। पति का कहना है कि वह यहां सुरक्षित नही हैं।

बता दें कि, राजीव गांधी की 21 मई, 1991 में तमिलनाडु में चुनाव प्रचार के दौरान बम विस्फोट करके हत्या कर दी गई थी। उसके बाद पुलिस की जांच में नलिनी पकड़ी गई। राजीव गांधी की हत्या में सात लोगों -ए.जी. पेरारिवलन, वी. श्रीहरन उर्फ मुरुगन, टी. सुतेन्द्रराजा अलैस संथान, जयकुमार, रॉबर्ट पायस, रविचंद्रन और वी. श्रीहरन की पत्नी नलिनी श्रीहरन को दोषी ठहराया गया था।

सभी अपराधी 1991 के बाद से जेल में हैं, जिस साल लिट्टे की एक आत्मघाती महिला हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था, जिससे चेन्नई के पास एक चुनावी रैली में राजीव गांधी की मौके पर ही मृत्यु हो गई। तमिलनाडु सरकार ने सभी दोषियों की रिहाई के लिए एक प्रस्ताव पारित किया है, लेकिन राज्यपाल ने इस मामले पर अभी तक निर्णय नहीं लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here