तो क्या मोदी लोकप्रिय हो जाएगें मुसलमानों के बीच?

0
वर्ल्ड सूफी फोरम और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सऊदी दौरे से असम में चुनावी फायदा मिला है। ऐसा मानना है केन्द्रीय अल्पसंख्यक मंत्री नजमा हेपतुल्ला का। उन्‍होंने कहा कि पीएम की सऊदी यात्रा से कई महत्‍वपूर्ण उपलब्धियां हासिल हुई हैं। इनमें दोनों देशों के मिलकर आतंक से लड़ने पर सहमति बनी है।
नजमा हेपतुल्ला प्रधानमंत्री के सऊदी अरब दौरे को लेकर बुलाई गई प्रेस वार्ता में बोलते हुए अपने विचार रख रही थी। जनसत्ता  के अनुसार जब उनसे पूछा गया कि पीएम मोदी के वर्ल्ड सूफी फोरम में भाषण और सऊदी अरब दौरे से क्या भाजपा को फायदा हुआ तो हेपतुल्‍ला ने कहा,”प्रधानमंत्री के पास जो भी जाता वे उसके कार्यक्रम में जाते हैं। वर्ल्ड सूफी फोरम के आयोजक उनके पास गए थे। इससे असम और पश्चिम बंगाल में अच्छा संदेश गया।”
बता दें कि असम में प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने सऊदी अरब की यात्रा का कई बार जिक्र किया था। आगे केन्द्रीय अल्पसंख्यक मंत्री ने हज यात्रा के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मैंने पीएम को हज यात्रियों की कटौती को लेकर नोट दिया था। मुझे विश्‍वास है कि इस पर जरूर काम हुआ होगा। आधिकारिक रूप से सूचना मिलते ही इसकी घोषणा की जाएगी। 2017 से हज यात्रा का जिम्मा विदेश मंत्रालय से अल्पसंख्यक मंत्रालय को दिया जाएगा।
हज यात्रा कटौती को लेकर प्रधानमंत्री का जवाब आने में अभी देर है लेकिन नजमा हेपतुल्ला की इस प्रेस वार्ता से इतना पता तो चलता हि है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की की छवि को मुसलमानों के बीच बदलने की पार्टी का कोशिश जरूर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here