पंजाब नाभा जेल मामले में डीजी निलंबित व अधीक्षक और उपाधीक्षक बर्खास्त

0

पंजाब की नाभा जेल से फरार खतरनाक आंतकवादी मामले में पंजाब सरकार ने लापरवाही के चलते डीजी जेल को निलंबित व नाभा जेल के अधीक्षक और उपाधीक्षक को बर्खास्त किया कर दिया है।

jail-759

आज सुबह पुलिस की वर्दी पहने हुए 10 हथियारबंद लोगों के एक दल ने पंजाब की नाभा जेल पर हमला बोलते हुए वहां बंद ‘खालिस्तान लिबरेशन फोर्स’ के चीफ हरमिंदर सिंह मिंटो और उनके चार साथियों को जेल से भगाकर ले जाने में कामयाब हो गए थे। इन हथियारबंद लोगों ने हमले में लगभग 100 राउंड फायर किए।

Also Read:  मणिपुर में दो अलग जगहों पर आतंकी मुठभेड़: 2 पुलिसकर्मी शहीद, 6 घायल

nabha-759

हथियारबंद लोग दो गाड़ियों में बैठकर जेल पहुंचे थे। सबसे पहले उन्होंने गार्ड पर चाकू से हमला किया और फिर जेल के अंदर घुस गए थे। खालिस्तान लिबरेशन फोर्स के चीफ हरमिंदर सिंह मिंटा के अलावा गुरप्रीत सिंह, विक्की सिंह गंडोरा, नितिन देओल और विक्रमजीत सिंह विक्की भी जेल से भाग निकले थे।

Also Read:  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव : फिर मुस्लिम मतदाताओं को वोट बैंक बनाने पर टिकी राजनीतिक दलों की निगाहें

जनसत्ता की खबर के अनुसार, घटना के बाद डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने डिप्टी सीएम सुखबीर बादल को मामले की पूरी जानकारी दी। वहीं घटना को लेकर डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कैदियों का फरार हो जाना बड़ी घटना है।

सभी को जल्दी ही काबू कर लिया जाएगा और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने कहा- डीजी जेल को निलंबित किया गया और नाभा जेल के अधीक्षक और उपाधीक्षक को बर्खास्त किया गया।

Also Read:  जानिए क्या है 'सर्जिकल स्ट्राइक' और कैसे दिया भारतीय सेना ने इसे अंजाम ?

मामले की तह तक पहुंचने के लिए एक टास्क फोर्स का भी गठन किया गया है। बताया जा रहा है कि फरार कैदी हरियाणा की तरफ बढ़ रहे हैं। इसके चलते चंडीगढ़ पुलिस और हरियाणा पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here