हार्दिक पटेल का बड़ा ऐलान, कहा- मेरे समर्थक कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र हैं

0

पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि अगर उनके समर्थक कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वह पूरी तरह स्वतंत्र हैं। ABP न्यूज से बातचीत में हार्दिक ने कहा कि गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का एकमात्र विकल्प कांग्रेस ही है।

@HardikPatel_

उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि अगर मेरे पिता भी बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ते हैं तो लोगों को उन्हें वोट नहीं देना चाहिए। हार्दिक ने कहा कि काग्रेस राज्य में वास्तविक विकल्प है। वहीं मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव में समर्थन देने के लिए कांग्रेस के सामने कई शर्तें रखी हैं।

बता दें कि सोमवार (23 अक्टूबर) को राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव गहलोत अशोक गहलोत और हार्दिक पटेल के बीच मुलाकात हुई थी। गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘हार्दिक पटेल और उनके सहयोगियों के साथ अच्छी बैठक हुयी।’’ हार्दिक पटेल ने भी कहा कि वह गहलोत से मिलने के लिए एक होटल में गए थे और कांग्रेस पार्टी के समक्ष अपनी मांगे रखीं।

सूत्रों के मुताबिक पटेल ने सरकारी नौकरी और शैक्षणिक संस्थानों में पाटीदारों के लिए आरक्षण के आश्वासन सहित विभिन्न मांगों की शर्त रखी है। कांग्रेस पार्टी में सूत्रों ने बताया कि पटेल ने पाटीदार बहुल निर्वाचन क्षेत्रों में उनके उम्मीदवारों के लिए अधिकतम टिकटों की मांग की है।

गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है उसी राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी तेज हो गई है। माना जा रहा है कि इस बार कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में कांटे की टक्कर है। इस बीच पिछड़े वर्ग के नेता और गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना के संयोजक अल्पेश ठाकोर कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं।

अशोक गहलोत ने लगाया जासूसी का आरोप

वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस ने गुजरात पुलिस और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) पर उसके नेताओं की जासूसी करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने गुजरात पुलिस और आईबी पर उनकी जासूसी करने तथा अहमदाबाद के उस होटल से सीसीटीवी फुटेज हासिल करने का आरोप लगाया है, जिसमें वह ठहरे हुए थे।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव गहलोत अशोक गहलोत ने आरोप लगाया है कि गुजरात के जिस होटल में वह पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और दलित नेता जिग्नेश मेवानी से मिले थे उसकी सीसीटीवी फुटेज स्थानीय पुलिस और आईबी के लोग ले गए।

गहलोत ने एक्सप्रेस से कहा कि होटल के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि “आईबी और पुलिस के लोग पूछताछ कर रहे थे कि किससे कौन मिलने आया था…उसके बाद वो होटल का सीसीटीवी फूटेज ले गये और उसे मीडिया को दे दिया।” गहलोत ने कहा कि, “राहुल गांधी से मिले, किस से मिले, क्या हुआ…इनको क्या मतलब है। कौन किस से मिला इनको क्या मतलब है। कोई भगोड़ा है क्या?”

अखबार के मुताबिक, होटल के चीफ सिक्योरिटी अफसर विक्रम सिंह शेखावत ने कहा कि, “पुलिस ने किसी कमरे की तलाशी नहीं ली, लेकिन वीवीआईपी की आवाजाही की वजह से होटल में दिन भर पुलिस और आईबी के कई लौग तैनात रहे। पुलिस ने हमसे सीसीटीवी फूटेज मांगा और प्रबंधन से बात करने के बाद हमने उन्हें वो सौंप दिया।”

दरअसल, जिस सीसीटीवी फुटेज को लेकर हंगामा हो रहा है उस वीडियो में हार्दिक पटेल अहमदाबाद के उम्मेद होटल में घुसते दिख रहे हैं, जहां कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रुके हुए थे। रविवार रात 11 बजकर 53 मिनट से सोमवार शाम 4.14 बजे तक की पांच वीडियो फुटेज में हार्दिक पटेल को होटल में घुसते और बाहर निकलते देखा गया। हालांकि, पटेल ने जोर देकर राहुल गांधी से मुलाकात से इंकार किया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here