मुजफ्फरनगर: मुस्लिम परिवार का आरोप- घर में घुसकर पुलिस ने की तोड़फोड़ और लूट लिए गहने-नकदी

0

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर इन दिनों देश के कई राज्यों में जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में 20 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के बाद स्थानीय लोग पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। मुजफ्फरनगर के लोग पुलिस पर अत्याचार के आरोप लगा रहे हैं।

इलाके में एक परिवार का आरोप हैं कि पुलिसवालों ने उनके घर में घुसकर तोड़फोड़ की साथ ही उनके घर से लाखों की नगदी भी गायब है। परिवार के लोगों का कहना हैं कि पुलिसकर्मियों ने उनके घर में घुसकर जमकर तांडव मचाया। परिवार का आरोप है कि, यूपी पुलिस उनके घर में घुसकर तोड़फोड़ मचाने लगी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने उनकी कार, खिड़कियां, शीशे, रेफ्रिजेटर, वाशिंग मशीनें, अलमारी, टीवी तक तोड़ दिया।

परिवार के पीड़ित महिलाओं का कहना है कि, पुलिस ने उनके परिवार को घर छोड़ने के लिए कहा है। उनका कहना है कि, पुलिस के साथ सादे कपड़ों में भी कुछ लोग थे। वे कहती हैं कि इलाके में मुस्लिम परिवार के लोग दहशत में जी रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ पुलिस ने इस आरोप को सरासर झूठ बताया है।

72 साल के हाजी हामिद हसन के घर में टूटी कार, टूटी टाइल्स, बिखरे सामान, टूटी घड़ी समेत कई चीजें तोड़फोड़ की गवाही दे रहे हैं। हाजी हमीद हसन ने अपनी आपबीती का जिक्र करते हुए बताया कि 11 बजने में तीन मिनट बाकी थे, तब वे (पुलिस) आए और उन्होंने घड़ी को तोड़ दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 72 साल के हाजी का कहना है कि दो पोतियों की शादी फरवरी में है और वो इसके लिए कई दिनों से पैसे जमा कर रहे थे। घर को शादी के लिए सजाया गया था लेकिन अब ऐसा देखने से ऐसा लग रहा है जैसे यहां कोई तूफान आया और सबकुछ तहस-नहस कर गुजर गया। फ्रीज, वाशिंग मशीन, कपसेट समेत कई सामान जो पैकिंग में थे, सबको तोड़ दिया गया। कार, स्कूटर सब टूटी हुई हालत में घर में खड़े हैं। घर में हुई तोड़फोड़ में कई सदस्य घायल हो गए जिसमें 14 साल का एक लड़का भी शामिल है।

ये कहानी सिर्फ हामिद के घर की नहीं बल्कि पड़ोस के दर्जनों घरों की है जहां आरोप है कि पुलिस ने शुक्रवार रात घरों में घुसकर तोड़फोड़ किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here