दुबई और अबू धाबी में सोनू निगम के आगामी कॉन्सर्ट को मुस्लिमों ने बहिष्कार का किया ऐलान

0

दुबई और अबू धाबी में आयोजित होने वाले भारतीय गायक सोनू निगम की आगामी लाइव कॉन्सर्ट का मुस्लिमों ने बहिष्कार का ऐलान किया है। बता दें कि, पिछले दिनों अजान को लेकर सोनू निगम ने विवादित ट्वीट किया था, जिससे लेकर उनके खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हुआ था। इसके अलावा आपको बता दे गायक अभिजीत भट्टाचार्य का ट्वीटर अकाउंट को सस्पेंड किए जाने के खिलाफ सोनू निगम ने भी अपना ट्वीटर अकाउंट डिलीट कर दिया था।

सोनू निगम
फाइल फोटो- सोनू निगम

सोनू निगम को 12 जनवरी को दुबई ड्यूटी फ्री टेनिस स्टेडियम में प्रदर्शन करना है। लेकिन उससे पहले व्हाट्सएप पर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है।

प्रिय मुस्लिम भाई और बहनों, भारतीय गायक सोनू निगम 12 नवंबर, 2018 को दुबई ड्यूटी फ्री टेनिस स्टेडियम और 19 जनवरी, 2018 को दोहा प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर में लाइव प्रदर्शन कर रहे हैं। इस कार्यक्रम को बहिष्कार करने के लिए मुसलमानों को संदेश भेजिए। क्योंकि वह मुस्लिम विरोधी है और वह इस्लाम और अजान से नफरत करता है।

आप सभी को पता होगा कि, उन्होंने भारत में प्रार्थना के लिए आजान (इस्लामी कॉल) पर आपत्ति जताई थी। इसलिए लोगों को बताएं कि हमें उनके कार्यक्रमों का बहिष्कार क्यों करना चाहिए। सोशल मीडिया की सहायता से इस शो को फ्लॉप करें और सभी मुसलमानों को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। इस मैसेज के विशेष तौर से संयुक्त अरब अमीरात (UAE), कतर और GCC जैसे देशों में मुसलमानों को शेयर करें।

बता दें कि, सोनू निगम ने पिछले साल अप्रैल के महिने में आजान के लिए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल था, जिसके बाद वो विवादों में आ गए थे। सोनू निगम के ट्वीट के बाद से सोशल मीडिया पर इसे लेकर एक नई बहस शुरू हो गई थी।

जिससे लेकर उनके खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हुआ था। मामला इतना बढ़ गया था कि बाद में सोनू निगम को ट्विटर तक छोड़ना पड़ा।

क्या है पूरा मामला?

बता दें कि 17 अप्रैल को सोनू निगम ने मस्जिदों से होने वाली अजान पर सवाल उठाते हुए उसे गुंडागर्दी तक करार दे दिया था। सोनू ने अपने ट्वीट्स में लिखा था कि, ”ईश्‍वर सबका भला करे। मैं मुस्लिम नहीं हूं और मुझे सुबह अज़ान के चलते उठना पड़ता है। भारत में यह जबरन धार्मिकता कब खत्‍म होगी?

इसके अलावा उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘बता दूं कि जब मोहम्‍मद ने इस्‍लाम बनाया तब बिजली नहीं थी। एडिसन के बाद भी मुझे यह शोर क्‍यों सुनना पड़ता है?’

उन्होंने अपने अन्य ट्वीट में मंदिर और गुरुद्वारे का जिक्र करते हुए कहा था कि, ‘मैं किसी मंदिर या गुरुद्वारे द्वारा उन लोगों को जगाने के लिए बिजली के उपयोग को जायज नहीं मानता जो धर्म पर नहीं चलते। फिर क्‍यों? ईमानदारी? सच्‍चाई? गुंडागर्दी है बस?’

बता दें कि मस्जिद में लोगों को बुलाने के लिए अजान दी जाती है। अजान का अर्थ होता है पुकारना या घोषणा करना, अजान दिन में पांच बार नमाज से पहले होती है।

ज्ञात हो कि पिछले वर्ष 23 मई को गायक अभिजीत भट्टाचार्य के अकाउंट को ट्वीटर ने सस्पेंड कर दिया था। आक्रामक ट्वीट और खासकर महिलाओं के खिलाफ भद्दी टिप्पणियां करने के लिए उनका ट्विटर अकाउंट निलंबित किया गया था। इसके बाद सोनू निगम ने भी गायक अभिजीत के समर्थन में ट्विटर को छोड़ने का एलान कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here