झारखंड: मुस्लिम गर्भवती महिला का आरोप- कोरोना संदिग्ध बता मेडिकल स्टाफ ने चप्पल से पीटा, दी भद्दी भद्दी गालियां, सरकारी अस्पताल में इलाज नहीं होने से बच्चे की हुई मौत

0

कोरोना वायरस महामारी के बीच झारखंड से देश को शर्मशार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां के एक सरकारी अस्पताल ने कथित तौर पर गर्भवती महिला का इलाज करने से इनकार कर दिया, क्योंकि वह मुस्लिम थी। गर्भवती महिला रिजवाना खातून ने आरोप लगाया है कि उसके साथ जमशेदपुर के एक सरकारी अस्पताल के कर्मियों ने मारपीट की जिसकी वजह से उसके बच्चे की मौत हो गई।

झारखंड
फोटो: सोशल मीडिया

सरकारी अस्पताल में गर्भवती महिला रिजवाना खातून के साथ जो कुछ हुआ उसके बाद उसने खुद राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी दी है। जमशेदपुर के एमजीएम हॉस्पिटल में उनके साथ जो हुआ वह सिलसिलेवार तरीके से रिजवाना ने बताया है। मुख्यमंत्री मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कराने का निर्देश राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को दिया है। हालांकि, खबर लिखे जाने तक जांच पर कोई अपडेट नहीं आया है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के लिखे अपने पत्र में पीड़िता ने लिखा कि, वह प्रसव के लिए महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल गई थीं। डिलीवरी का वक्त करीब था लिहाजा उन्हें ब्लीडिंग हो रही थी। अस्पताल के फर्श पर खून गिर गया तो अस्पताल कर्मियों ने उनसे ही खून साफ करने को कहा। उन्हें भद्दी भद्दी गालियां दी गई। यहां तक कहा गया कि तुम करोना फैलाना चाहती हो। रिजवाना को मेडिकल स्टाफ ने चप्पल निकालकर बुरी तरह से पीटा। मेडिकल स्टाफ के इस बर्ताव से रिजवाना हक्का-बक्का रह गई। सरकारी अस्पताल के अंदर बदसलूकी के बाद वह आनन-फानन में एक प्राइवेट हॉस्पिटल में पहुंची लेकिन मानगो स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल में पहुंचने के पहले उनके बच्चे की मौत हो चुकी थी। गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत के बाद किसी तरह प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टरों ने रिजवाना की जान बचाई।

मुख्यमंत्री ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कराने का निर्देश राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को दिया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “डीसी पूर्वी चंपारण, इस मामले पर ध्यान दें और जांच शुरू करें। दोषियों की पहचान करें और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।” उन्होंने अपने ट्वीट में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को भी टैग किया और आरोपों पर ध्यान देने को कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here