जुनैद हत्याकांड के बाद अब मैनपुरी में मुस्लिम परिवार को ट्रेन में बुरी तरह पीटा, महिलाओं से की छेड़छाड़, 3 गिरफ्तार

0

जुनैद खान हत्याकांड का मामला अभी ठंडा ही नहीं हुआ कि एक और मुस्लिम परिवार पर भीड़ द्वारा हमले का गंभीर मामला सामने आया है। इस बार एक मुस्लिम परिवार पर दर्जनों युवकों द्वारा जानलेवा हमला किया गया है। इस दौरान परिवार के 11 लोगों को बुरी तरह से पीटा गया है। बता दें कि इससे पहले 22 जून को 16 साल के जुनैद की गाजियाबाद से मथुरा जा रही ईएमयू ट्रेन में भीड़ द्वारा चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी।

फोटो: The Lallantop

बताया जा रहा है कि पीड़ित परिवारों को भीड़ ने सिर्फ मारा ही नहीं, बल्कि झगड़े के बाद भीड़ ने मुस्लिम परिवार का सामान भी लूट कर ले गई। रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। यह मामला उत्तर प्रदेश में मैनपुरी का है।

अंग्रेजी अखबार द हिंदू के मुताबिक, 53 साल के शाकिर ने अखबार को बताया कि वह अपने परिवार के साथ फर्रुखाबाद-शिकोहाबाद पैसेंजर ट्रेन में सफर कर रहे थे। कस्बा भोगांव में एक शादी में शामिल होकर वापस फर्रुखाबाद जाने के लिए भोगांव रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन की बोगी में सवार हुए थे।

Also Read:  100 करोड़ क्लब में हुई 'रुस्तम' की एंट्री

जैसे ही ट्रेन पखना स्टेशन से आगे बढ़ी, उसी दौरान यहां से कुछ युवक ट्रेन में सवार हुए और महिलाओं के साथ छेड़खानी शुरू कर दी। जब मुस्लिम परिवार ने इस छेड़छाड़ का विरोध किया तो शाकिर के परिवार और उन लोगों के बीच बहस होने लगी। जिसके बाद युवकों ने फोन करके अपने अन्य साथियों को बुला लिया, और परिवार से मारपीट शुरू कर दी।

रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 30 युवकों ने आते ही मुस्लिम परिवार पर हमला बोल दिए और उन्हें रॉड से पीटने लगे। इस दौरान औरतों को भी बुरी तरह पीटकर घायल कर दिया गया। भीड़ ने मुस्लिम परिवार को पीटने के बाद उनके साथ लूटपाट किए और नीमकरोरी स्टेशन के पास ट्रेन की चेन पुलिंग करके भाग गए। इस घटना के बाद जब ट्रेन फर्रुखाबाद जंक्शन पर आकर रुकी तो जीआरपी को घटना की जानकारी मिली।

Also Read:  निर्भया कांड के बाद भी नही बदले दिल्ली के हालात, सिर्फ जनवरी में ही दर्ज हुए दुष्‍कर्म के 140 मामले
PTI

अखबार को पीड़ित शाकिर ने बताया कि युवकों द्वारा उनपर रॉड से हमला किया गया। उन लोगों ने सिर्फ उन्हें लूटा बल्कि औरतों के साथ बदतमीजी भी की। शाकि ने बताया कि आरोपी उन्हें बेरहमी से मारे जा रहे थे। इतना ही नहीं उन्होंने मानसिक तौर पर कमजोर शाकिर के 17 वर्षीय बेटे पर भी रहम नहीं खाया और उसकी भी पिटाई कर दी। शाकिर फर्रुखाबाद जिले के कासगंज के रहने वाले हैं।

द हिंदू से शाकिर ने बताया कि ‘हमलावर चिल्ला रहे थे। मुल्ले हैं। मारों इन्हें और जब वो भागे तो महिला के गले से चैन भी खींच ले गए। शाकिर ने बताया कि इस दौरान कुछ यात्रियों ने उन्हें बचाने की कोशिश की। लेकिन उन्होंने उनपर भी हमला किया तो वो पीछे हट गए। फर्रुखाबाद स्टेशन पर पहुंचने के बाद जीआरपी ने पीड़ित परिवारों को अस्पताल में भर्ती कराया है।

Also Read:  स्मृति ईरानी को बीजेपी विधायक ने याद दिलाया कि कर्नाटक भी भारत का हिस्सा है

इस मामले में एसपी ओपी सिंह ने बताया कि मारपीट में शाकिर के अलावा उनकी पत्नी आसिया, बेटी अर्शी, तीन बेटे अरासान, फैजान, फिज़ू, शाकिर के भाई आरिफ, उनके भतीजे, शाकिर के साले शहीद और उनकी दो बहनें शहनाज और मेनाज बुरी तरह घायल हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here