मुस्लिम डेरी किसान से पुलिसवालों ने 51 गायें छीनकर राजस्थान के बीजेपी नेता की गोशाला पहुंचाई

0

राजस्थान के अलवर जिले के किशनगढ़ में दूध कारोबारी की 51 गाय पुलिसवालों ने छीनकर गोशाला पहुंचा दी। जिस मुस्लिम डेरी किसान की गायों को गोशाला पहु्चाया गया है, वो गायों के दूध को एनसीआर क्षेत्र में बेचने के साथ ही खेती-बाड़ी करता है। भाजपा सरकार गौरक्षा के इस इस प्रकार के कृत्यों से गरीब मुस्लिम किसानों के रोजगार को समाप्त कर दिया है और समाज में उन्हें घृणा का पात्र बना दिया है।

परिवार के मुताबिक, पुलिस ने कथित गौरक्षकों के साथ मिलकर यह काम कुछ हिंदू संगठनों की शिकायत के बाद किया जिसमें परिवार को गौ वध के काम में शामिल बताया गया था जबकि वह दूध बेचकर गुजारा करते हैं।

मुस्लिम डेरी किसान सुब्बा मेव हर दिन पुलिस को यह समझाने का प्रयास कर रहा है कि वह दुध का रोजगार करता है लेकिन अधिकारी उसकी गायें मुक्त कराने में असमर्थता जाहिर कर रहे है क्योंकि वह 51 गायें अब जिस गौशाला में जब्त कर बांधी गई है उसका स्वामित्व भाजपा नेता श्रीकृष्ण गुप्ता के पास है। इसलिए पुलिस किसी कार्रवाई को करने से बच रही है। जबकि जिला प्रशासन इन 51 गायों के स्वामित्व का पता लगाने के लिए जांच शुरू कर चुका है।

श्री कृष्णा गोशाला के अध्यक्ष, जो भाजपा नेता भी हैं, ने कहा, पुलिसकर्मियों और कुछ ग्रामीणों ने 3 अक्तूबर को हमारे गोशाला में कई गायें लेकर आए थे, इनकी अच्छी देखभाल करने वाले कर्मचारियों के बावजूद, एक गाय की मृत्यु हो गई है। पूछताछ के बाद, अगर प्रशासन ने हमें गायों को परिवार वापस देने का आदेश दिया है, तो हम ऐसा करेंगे। लेकिन परिवार को हमें मुआवजा देना होगा (प्रति गाय 200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से होगा)।

3 अक्टूबर को अलवर के किशनगढ़ बास थाना इलाके में आने वाले गांव साहूबास में हिन्दूवादी संगठन के लोगों ने गोतस्करी के शक में मुस्लिम गोपालक सुब्बा मेव के खिलाफ पुलिस में शिकायत की थी। इस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने गौतस्करी के आरोप में इस मुस्लिम परिवार से जबरन उनकी 51 गायों को छीनकर गोशाला में भेज दिया।

सुब्बा मेव पुत्र नसरू खां और उनकी पत्नी का कहना है कि गायों को छीन लिए जाने से एक और जहां उनका दूध का व्यवसाय ठप्प हो गया है, वहीं दुधारू गायों के बछड़ों की भी अपनी मां के बिना हालत खराब हो रही है, जो कई दिनों से भूख प्यास से तड़प रहे हैं। सुब्बा मेव कई वर्षों से गोपालन करता है और दूध का व्यवसाय करता है. गांव वालों के मुताबिक सुब्बा मेव रोजाना करीब 100 किलो गाय का दूध बेचता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here