मुंबई में तबाही की बारिश: घर में भरे पानी की तस्वीर ट्वीट कर शिवसेना-BJP पर बरसे NCP नेता नवाब मलिक

0

मुंबई में मूसलाधार बारिश के कारण ने आम लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। बारिश की वजह से स्कूल-कॉलेज सब बंद हैं। बच्चों की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। देश की आर्थिक राजधानी की रफ्तार थम गई है और लोग घरों में कैद होने को मजबूर हैं। सोमवार रात को मूसलाधार बारिश के बाद मंगलवार को भी शहर में बरसात हुई। बारिश से शहर में बने हालात देखकर ही पता चलता है कि कितनी भारी बारिश हुई है।

इस बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता नवाब मलिक ने मंगलवार को शिवसेना के नेतृत्व वाली बृह्नमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) पर निशाना साधते हुए अपने कुर्ला स्थित घर की तस्वीरें ट्वीट की हैं। इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि बारिश के चलते नवाब मलिक के घर में पानी भरा हुआ है। एक तस्वीर में नवाब मलिकी भी घुटने तक भरे पानी में खड़े हैं।

नवाब मलिक ने मुंबई में चल रहे मेट्रो कार्य के लिए भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि इससे भी शहर में बाढ़ की स्थितियां बनी हैं। नवाब मलिक ने कुर्ला के एलबीएस मार्ग स्थित अपने आंशिक रूप से जलमग्न घर की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर साझा कीं। इन तस्वीरों में मलिक खुद करीब घुटनों तक पानी में खड़े नजर आ रहे हैं।

मलिक ने अपने ट्वीट में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कार्यालय और बीएमसी को टैग करते हुए लिखा, ‘करुन दखावला (कर दिया है)।” नवाब मलिक ने बताया कि भारी बारिश के बाद उनके घर में आधी रात को पानी भरना शुरू हुआ और पांच घंटे बाद पानी उतरना शुरू हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि बीएमसी द्वारा नालों की अधूरी सफाई के कारण यह स्थिति बनी।

एक अन्य ट्वीट में घुटने तक भरे पानी में खड़े तस्वीरों को शेयर करते हुए मलिक ने तंज कसते हुए कहा, ‘शुक्रिया @एमसीजीएम-बीएमसी’। ‘करुन दखावला’ ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना का एक नारा है, जिसका इस्तेमाल पार्टी ने चुनाव अभियानों में यह बताने के लिए किया था कि उसने लोगों से किया गया वादा पूरा कर दिया है।

1974 के बाद सबसे अधिक हुई बारिश

मुंबई में मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे से पहले तक पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे अधिक बारिश हुई। इससे पहले 26 जुलाई 2005 को मुंबई ऐसे ही जलप्रलय का गवाह बना था। सांता क्रुज में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुंबई क्षेत्रीय केंद्र से मिले आकंड़े का हवाला देते हुए एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 375.2 मिमी बारिश हुई है।

मुंबई में 2005 में आयी बाढ़ को छोड़ दें तो यह पांच जुलाई 1974 के बाद महानगर में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है। सांताक्रुज वेधशाला ने उस दिन मुंबई में 375.2 मिमी बारिश दर्ज की थी। महाराष्ट्र में बारिश जनित घटनाओं में 27 लोगों की मौत हो गयी है। इनमें 18 लोगों की मौत मुंबई में एक दीवार के ढह जाने के कारण हुई है। अधिकारियों ने मंगलवार को शहर एवं आसपास के इलाकों में अवकाश घोषित किया है और लोगों से अपने घरों से बाहर निकलने से बचने को कहा है।

मुंबई में उत्तरी उपनगर मलाड में भारी बारिश के बाद मंगलवार सुबह दीवार ढहने की घटना में 18 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने बताया कि पुणे के अम्बेगांव इलाके में सोमवार रात एक दीवार के ढह जाने के कारण छह मजदूरों की मौत हो गयी और तीन लोग घायल हो गये। ठाणे के कल्याण में मंगलवार सुबह दीवार ढहने की एक और घटना में तीन लोगों की मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here