मुलायम का दांव: अखिलेश और रामगोपाल निष्कासन, आज बैठक के बाद समीकरण होंगे साफ

0

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी कुनबे में मचे घमासान के बीच समाजवादी पार्टी :सपा: मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बहुत बड़ी कार्रवाई करते हुए अपने पुत्र एवं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से छह-छह साल के लिये निष्कासित कर दिया।

सपा प्रमुख ने मुख्यमंत्री अखिलेश और महासचिव रामगोपाल को कारण बताओ नोटिस जारी करने के महज पौन घंटे के अंदर संवाददाता सम्मेलन करके दोनों को पार्टी से निकालने का फरमान सुना दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी बचाने के लिये उन्हें ऐसा सख्त कदम उठाया है।

मुलायम ने रामगोपाल द्वारा आगामी एक जनवरी को पार्टी के राष्ट्रीय प्रतिनिधि सम्मेलन बुलाये जाने को अवैध करार देते हुए कहा कि इसका अधिकार केवल राष्ट्रीय अध्यक्ष को है। रामगोपाल के कदम से पार्टी को नुकसान हुआ है और चूंकि रामगोपाल के कृत्य में अखिलेश का भी समर्थन है, इसलिये उन्हें भी पार्टी से छह साल के लिये निकाल दिया गया है।

उन्होंने कहा कि चुनाव के समय ऐसी समस्या जानबूझकर पैदा की है। अखिलेश गुटबाजी कर रहे हैं और रामगोपाल इसमें उनकी मदद कर रहे हैं। रामगोपाल ने अखिलेश का भविष्य खत्म कर दिया है। उन्हें विवादित कर दिया है। मुख्यमंत्री तो निर्विवाद होता है. मुख्यमंत्री इसे समझ नहीं रहे हैं।

इस सवाल पर कि अब मुख्यमंत्री कौन होगा, मुलायम ने कहा कि वह हम तय करेंगे। इसके लिये पार्टी नेताओं से विचार-विमर्श किया जाएगा।

एनडीटीवी की खबर के अनुसार, शुक्रवार को पूरे दिन चले इस सियासी तूफान के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज विधायकों की बैठक बुलाई है। दोपहर को वे पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों से भी मिलेंगे। इधर, दूसरी ओर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने भी उन लोगों की बैठक बुलाई है, जिनका उन्होंने टिकट काट दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here