योगी सरकार के बाद अब मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने भी किसानों के साथ किया भद्दा मजाक, फसल बीमा के नाम पर दिए 4.70 रुपए

0

बीजेपी शासित राज्य उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के साथ भद्दा मजाक किया गया है। शिवराज सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों को 4-5 रुपए मुआवजा दिए जाने के मामले सामने आ रहे हैं।

file photo

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सिहोर में सोयाबीन की फसल नष्ट होने पर 52 किसानों को कुल 3061.50 रुपये की धनराशि बीमा राहत के रूप में दी गई है। सीहोर के किसान उत्तम सिंह के दो एकड़ के खेत में सोयाबीन की पूरी फसल नष्ट हो गई थी, उन्हें फसल बीमा राशि के नाम पर केवल 17. 46 रुपए मिले।

वहीं सीहोर के रेहती गांव के निवासी बादामी लाल को 4.70 रुपए बीमा राशि मिली है। बता दें कि, किसानों को जो भुगतान किया गया है उसके लिए बकायदा पीएम मोदी और सीएम शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर वाला प्रमाणपत्र भी जारी किया गया है।

ख़बरों के मुताबिक, बीमा से राहत पाने वाले किसानों में सबसे अधिक मुआवजा जिले की नीला बाई को मिला है जिनकी 22 एकड़ जमीन पर खड़ी सोयाबीन की फसल पिछले दिनों नष्ट हो गई थी।

नीला बाई को मुआवजे के रूप में कुल 194.22 रुपये की राशि का भुगतान किया गया है। जबकि उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए 5,220 रुपए का प्रीमियम भरा था।

किसानों की सरकार के प्रति नाराजगी इस बात को लेकर भी है कि कार्यक्रम का आयोजन कर उन्हें जो सर्टिफिकेट बांटे गए, उन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के फोटो भी है।

गौरतलब है कि साल 2016 मे सीहोर जिले से ही पीएम मोदी के द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की गई थी। बता दें, किसान के साथ मजाक का एक मामला उत्तर प्रदेश में भी देखने को मिला था। मथुरा के एक किसान का 1 पैसे का कर्ज माफ किया गया है, जिसको उसके लिए सर्टिफिकेट भी दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here