पुलिसकर्मियों की पिटाई झेलने वाली छात्रा की मां का आरोप, कहा- पुलिस ने मुस्लिम लड़के पर फर्जी केस दर्ज कराने का बनाया था दबाव, VHP वालों ने बेटी को किया शर्मिंदा

0

उत्तर प्रदेश के मेरठ में मुसलमान दोस्त के साथ दिखने पर पुलिस की गाड़ी में महिला कॉन्स्टेबल द्वारा थप्पड़ और पुलिसकर्मियों की गाली की शिकार मेडिकल कॉलेज की छात्रा की मां ने एक मीडिया संस्थान से बातचीत में पुलिस पर कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। मां का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें लड़की के मुस्लिम दोस्त पर फर्जी केस दर्ज कराने का दबाव बनाया था।

साथ ही छात्रा की मां ने कहा है कि हम सब चाहते हैं कि उनकी बेटी को और बदनाम नहीं किया जाना चाहिए। आपको बता दें कि मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक हैरान करने वाला वीडियो सामने आया था, जिसमें एक महिला कॉन्स्टेबल लड़की को पीटते हुए उसे मुस्लिम साथी चुनने के लिए गालियां दे रही थी। वायरल वीडियो में यूपी 100 की गाड़ी में मेडिकल छात्रा को पीटा जा रहा था।

साथ ही उसके साथ गाड़ी में बैठे पुलिसकर्मी महिला सिपाहियों के सामने ही छात्रा से अश्लील बातें कर रहे थे। वीडियो में आगे बैठा हुआ पुलिसकर्मी छात्रा को अपशब्द कह रहा था, जबकि पीछे बैठी महिला सिपाही उसे मार रही है। वीडियो में पुलिसकर्मी युवती को यह कहते हुए सुनाई दे रहा है, “मुल्ला ज्यादा पसंद आ रहा है? हिंदू होते हुए….(गाली दे रहा है) मुल्ला का ले रही है….शर्म नहीं आ रहा है…’

मां ने लगाए कई गंभीर आरोप

पीड़ित परिवार ने द क्विंट से बातचीत में पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। मां ने बताया कि दोनों बच्चे पढ़ रहे थे। उनके साथ एक और लड़की थी, जो बाद में बाजार चली गई। उन्होंने कहा कि पुलिस लड़के और लड़की को अलग-अलग वैन में ले गई। मां ने आरोप लगाया कि लड़की और लड़के को पुलिस स्टेशन में पुलिसकर्मियों द्वारा परेशान किया गया। मां के मुताबिक, वीएचपी सदस्यों ने भी उनकी बेटी को शर्मिंदा करने की कोशिश की। छात्रा के माता-पिता ने कहा कि पुलिसकर्मी चाहते थे कि वह लड़के के खिलाफ शिकायत दर्ज कराए।

मां ने बताया कि जब हमने पुलिस से कहा कि हमारी बेटी को जाने दें तो उन्होंने कहा,” नहीं। पहले लड़के के खिलाफ एक रिपोर्ट दर्ज कराएं।” जब हमने उन्हें बताया कि हम ऐसा नहीं करना चाहते हैं, तो उन्होंने कहा,”नहीं। लड़का मुसलमान है। आपको उसकी रिपोर्ट करनी होगी।” लेकिन लड़की के माता-पिता ने इंकार कर दिया। माता-पिता ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि लड़का मुस्लिम है या हिंदू, वह एक छात्र है। जब उसने कुछ भी गलत नहीं किया, तो हमें उसके खिलाफ कोई रिपोर्ट क्यों दर्ज करनी चाहिए?”

वहीं, समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में लड़की ने बताया कि मैं अपने दोस्त के साथ बैठकर पढ़ाई कर रही थी, उसी समय बजरंग दल के कार्यकर्ता आए और मुझे एक रूम में बंद कर दिया और मेरे दोस्त को पीटा। युवती ने कहा कि उन्होंने मुझ से मेरी आईडी मांगी और टोन्ड किया कि तुम इससे शादी कैसे कर सकती हो, वह मुस्लिम है और तुम हिंदू। छात्रा का कहना है कि हमने उन्हें बताया कि जैसा आप सोच रहे हैं वैसा कुछ नहीं है।

पीड़िता ने बताया कि, “बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई बदसलूकी के कुछ देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची और हमें एक दूसरी गाड़ी में बैठा दिया। गाड़ी में महिला पुलिसकर्मी ने मुझे गालियां दीं और मेरे साथ मारपीट की। पुलिस थाने में मुझसे मरे सहपाठी के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने के लिए कहा गया और इसके लिए दबाव बनाया गया, लेकिन मैंने और मेरे परिवार ने ऐसा करने से इनकार कर दिया।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here