सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका गांधी को रोके जाने पर यूपी की BJP सरकार पर भड़कीं ममता बनर्जी, कहा- ‘मुठभेड़ों में 1100 से अधिक लोगों की हो चुकी है मौत’

0

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निंदा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए सोनभद्र जाने की अनुमति नहीं दी, लेकिन भगवा पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने पश्चिम बंगाल के भाटपारा क्षेत्र का दौरा उस समय किया था जब वहां निषेधाज्ञा लागू थी।

PTI

बता दे ंकि इस सप्ताह भूमि विवाद को लेकर सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी। प्रियंका गांधी को शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में हिरासत में ले लिया गया था और उन्हें सोनभद्र जाने से रोका गया था। सोनभद्र जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू थी।

बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं इस घटना (प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने) की निंदा करती हूं। जो भी हुआ वह गलत है। दलितों पर अत्याचार होने की घटनाएं हुई हैं और अगर कोई इसके खिलाफ आवाज उठा रहा है, तो उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी जानी चाहिए।’’

उन्होंने कहा कि भाजपा के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को सीआरपीसी की धारा 144 लागू होने के बावजूद भाटपारा जाने दिया गया था। लेकिन पार्टी ने प्रशासन की सलाह पर कोई ध्यान नहीं दिया और कानून का उल्लंघन करते हुए 50 वाहनों के साथ वहां गए।

बनर्जी ने कहा, ‘‘प्रियंका ने क्या किया कि वह चार लोगों को अपने साथ ले गई थीं और मुझे लगता है कि तीन या चार लोगों को हमेशा अनुमति दी जानी चाहिए। हमने भाटपारा में ऐसा ही किया था। हम लोगों को रोकते नहीं हैं लेकिन वे (भाजपा) ऐसा करते हैं और फिर हमारे बारे में झूठ फैलाते हैं।’’?

उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति ‘‘बहुत खराब’’ बताते हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘मुझे बताया गया है कि 1,100 से अधिक मुठभेड़ (उत्तर प्रदेश में) हुई हैं और हर रोज पीट पीटकर मार डालने की घटनाएं होती हैं। इन पर गौर किया जाना चाहिए।” उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून और व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब है। मुठभेड़ों में वहां 1,100 से अधिक लोग मारे गए हैं। मेरा मानना है कि चीजों पर गौर किया जाना चाहिए।

बनर्जी ने अब तक सोनभद्र घटना के पीड़ितों के पास नहीं जाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सुना कि आदित्यनाथ सोनभद्र (रविवार को) जा रहे हैं। मुझे लगता है कि उन्हें जल्द ही जाना चाहिए था। सोनभद्र में जो हुआ है, वह सही नहीं है।’’

गोंड आदिवासी समुदाय के 10 लोग 17 जुलाई को तब मारे गए जब यज्ञदत्त नाम के एक ग्राम प्रधान और उसके समर्थकों ने सोनभद्र के उम्भा गांव में जमीन पर कब्जा लेने की कोशिश के दौरान कथित तौर पर गोलीबारी कर दी। इस घटना में 28 अन्य लोग घायल हुए हैं। इन आदिवासियों से मिलने प्रियंका गांधी भी शुक्रवार को पहुंची थीं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि, बाद में कुछ पीड़ित परिवारों के लोगों से उन्हें मिलने दिया गया।

फिलहाल, 10 लोगों की जघन्‍य हत्‍या के मामले में उत्‍तर प्रदेश में राजनीति गरमा गई है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इस पूरे विवाद के लिए कांग्रेस सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस के शासन काल के दौरान वनवासियों की जमीन को एक सोसायटी के नाम कर दिया गया। सीएम ने कहा कि एक तीन सदस्‍यीय जांच कमिटी बनाई गई है, जो 10 दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here