उत्तर प्रदेश: अलीगढ़ से स्कॉलरशिप पर अमेरिका पढ़ने गया मोटर मैकेनिक के बेटे मोहम्मद शादाब ने हाई स्कूल में किया टॉप

0

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक मोटर मैकेनिक के बेटे ने अमेरिका में देश का नाम रौशन किया है। पिछले साल स्‍कॉलरशिप के जरिए अमेरिका पढ़ाई करने गए मकैनिक के बेटे ने यूएस के हाई स्कूल में टॉप किया है। छात्र के चर्चे अब सिर्फ अलीगढ़ में ही नहीं बल्कि देश में हो रहे हैं, लोग छात्र की खूब तारीफ कर रहे हैं।

अलीगढ़

मोटर मैकेनिक के बेटे मोहम्मद शादाब ने बताया कि पिछले साल उसने केनेडी-लूगर यूथ एक्सचेंज स्कॉरशिप जीती थी। इस स्कॉलरशिप के दहत उसे यूएस सरकार से 20 लाख रुपये मिले थे। इस प्रोग्राम के तहत वह हाई स्कूल की पढ़ाई करने यूएस गया था।

मोहम्मद शादाब ने बताया कि उसकी क्लास में 800 छात्र थे और उनके बीच उसने टॉप किया है। इतना ही नहीं शादाब को इसी साल की फरवरी में अपने स्कूल में स्‍टूडेंट ऑफ द मंथ भी चुना गया था। अपनी उपलब्धि पर शादाब ने बताया कि उसे यह टैग मिलना उसके लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। वह अपनी कामयाबी से बहुत खुश है। उसने कहा कि इसके बाद उसे और ज्यादा मेहनत करके आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली है।

शादाब ने बताया, ‘मैंने स्कूल में टॉप करने के लिए वाकई बहुत ज्यादा मेहनत की। घर की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। आज भी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है। मैं अपने माता पिता की मदद करना चाहता हूं और चाहता हूं कि एक दिन उन्हें मेरे ऊपर गर्व हो।’

शादाब ने भारत सरकार का भी शुक्रिया अदा किया है। उसने कहा कि मैं भारत सरकार का भी आभारी हूं जिन्होंने मुझे इस स्कॉलरशिप के लिए चुना और विदेश में भारत का परचम लहराने के लिए भेजा।

शादाब के पिता अरशद नूर ने बताया कि वह पिछले 25 वर्षों से मोटर मकैनिक का काम करते हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने अपने बेटे को विदेश में पढ़ने के लिए भेजा था और हमें गर्व है कि उसने वहां स्कूल टॉप करके हम लोगों का ही नहीं बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया है।’

अरशद ने कहा कि वह चाहते हैं कि उनका बेटा पढ़-लिखकर एक आईएएस अधिकारी बने और देश के लिए काम करे। वहीं शादाब ने कहा कि वह भविष्‍य में संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार अधिकारी के रूप में काम करना चाहता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here