मोदी की नयी मंत्री ने किये थे ‘नमाजवादी सरकार’ और ’20 करोड़ मुल्लो’ वाले सांप्रदायिक ट्वीट्स,

0

नरेंद्र मोदी सरकार में राज्‍यमंत्री बनाई गईं उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल अपने दो क‍थित ट्वीट्स को लेकर विवादों के घेरे में हैं। अपना दल की नेता अनुप्रिया पर आरोप है कि उन्‍होंने अपने अकाउंट से 13 जून 2016 को #UPWillChange हैशटैग के साथ दो सांप्रदायिक ट्वीट किए थे।

बताया जा रहा है कि दोनों ट्वीट डिलीट कर दिए गए हैं। अनुप्रिया के मंत्री बनने के बाद सोशल मीडिया पर उनके कथित ट्वीट्स वायरल हो गए हैं। अनुप्रिया ने कथित तौर पर ट्वीट में लिखा था, ”अखलाक पर करोड़ों न्‍योछावर लेकिन कैराना के हिंदुओं के लिए दो बोल तक नहीं!! वाह रे नमाजवादी सरकार।”

Also Read:  बच्चियों से दुष्कर्म की वजह मोबाइल फोन : आजम खां

 

समाचार एजेंसी आईएएनएस के हवाले से जनसत्ता ने ये खबर दी कि उसी दिन अपना दल के संस्‍थापक सोनेलाल पटेल के जन्‍म‍दिन पर ‘हुंकार रैली’ आयोजित की गई थी।

maxresdefault

कथित तौर पर अनुप्रिया ने दूसरे ट्वीट में लिखा, ”हमें बर्बाद कर दिए अपने ही गद्दारों ने वर्ना कभी सुनी नहीं थी 100 करोड़ डर जाएं 20 करोड़ मुल्‍लों से।” दोनों ट्वीट डिलीट कर दिए गए थे मगर मंगलवार को मंत्री पद की शपथ लेने के बाद अनुप्रिया के ये कथित ट्वीट Twitter पर शेयर होने लगे।

Also Read:  ये महिला टीचर बच्चों के साथ बनाती थी अवैध संबंध, मिली खौफनाक सजा

Anupriya-Tweet-620x400

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण ने ट्ववीट किया है, ”अनुप्रिया पटेल ने अब भाजपा का सांप्रदायिक कार्ड खेलने वाले ट्वीट डिलीट कर दिए हैं, यह दिखाता है कि उन्‍हें यूपी चुनाव से पहले मंत्री क्‍यों बनाया गया है।” वहीं योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया, ”अगर ये सही हैं तो अनुप्रिया पटेल को भारत के कैबिनेट में रहने का कोई हक नहीं है। नफरत वाले भाषण और क्‍या होते हैं?”

Also Read:  दिल्ली : बैंकों ने नोट बदलवाने वालों की उंगली पर स्याही का इस्तेमाल शुरू किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here