प्रधान मंत्री मोदी ने ओलिंपिक मैडल विजेता से क्यों कहा “मारना मत मुझे?’

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां अपने आधिकारिक आवास 7 रेस कोर्स रोड पर राष्ट्रीय खेल पुरस्कार विजेताओं की मेजबानी की, जिसमें रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पीवी सिंधू और कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक भी शामिल रही. प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय खेल दिवस की पूर्व संध्या पर खिलाड़ियों को बधाई दी. बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधू और पहलवान साक्षी के अलावा दिग्गज निशानेबाज जीतू राय और जिम्नास्ट दीपा करमाकर भी इस दौरान उपस्थित थे.

इन सभी चार खिलाड़ियों को सोमवार को यहां राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित करेंगे. सिंधू ने महिला एकल में रजत पदक जीतकर इतिहास रचा था जबकि साक्षी ने रियो खेलों महिला 58 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में कांस्य पदक जीता था. पहली बार ओलिंपिक में हिस्सा लेते हुए जिम्नास्ट दीपा कलात्मक जिम्नास्टिक में चौथे स्थान पर रही थी जबकि जीतू ने पिछले दो साल में आधे दर्जन से अधिक पदक जीते हैं.
Cq83OyIVUAECKDk

भाषा की खबर के अनुसार, सिंधू ने प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद कहा, ‘मैंने उन्हें अपना पदक दिखाया और वह काफी खुश थे. उन्होंने मुझे बधाई दी और कहा कि मैंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया और देश को गौरवांवित किया. उनसे बात करना सुखद रहा और मैं काफी खुश हूं.’

साक्षी से जब यह पूछा गया कि प्रधानमंत्री ने उनसे क्या कहा तो उन्होंने बताया, ‘‘प्रधानमंत्री ने मुझसे कहा कि ‘मारना मत मुझे’ और मैंने उनसे कहा कि पहलवान मैट पर काफी आक्रामक होते हैं, लेकिन इससे बाहर उनका दिल काफी कोमल होता है.’’ ‘रियो 2016’ पैंडेंट के साथ घूम रही 23 साल की साक्षी ने कहा कि यह उन्हें हैदराबाद में गोपीचंद की बहन ने दिया.

इस मौके पर मौजूद खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा, ‘सभी खेल रत्न, अर्जुन पुरस्कार, ध्यानचंद पुरस्कार, द्रोणाचार्य पुरस्कार, तेनजिंग नोर्गे पुरस्कार विजेताओं ने आज प्रधानमंत्री से मुलाकात की और इसमें रियो के दो पदक विजेता पीवी सिंधू और साक्षी मलिक भी शामिल थे.’

LEAVE A REPLY