अगस्ता घोटाले पर मोदी खामोश क्यों, अरविंद केजरीवाल का सवाल

0

अगस्ता स्कैम की परतें खुलने के साथ ही कांग्रेस के लिये मुश्किलों का दौर शुरू हो चुका है। बीजेपी के साथ-साथ विपक्ष ने भी अगस्ता स्कैम को एक बड़ा मुद्दा बनाया हुआ है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस पूरे मामले के सामने आने पर अब तक कई ट्विीट कर डाले है। उन्होंने कहा कि अब भी दोषी कांग्रेस वालों को सजा नहीं देंगे तो शक होगा कि मिले हुए हैं। राॅबर्ट वाड्रा का ही अभी तक कुछ नहीं किया।

बाद के ट्विीट में अरविंद केजरीवाल ने पूरी तरह से इस पर भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि अगस्ता पर इटली कोर्ट का फैसला काफी दमदार है, अब गेंद भारत सरकार के पाले में है, किस बात का इंतजार कर रही है मोदी सरकार।

Also Read:  मैं वहां नहीं होना चाहती जहां मैं 10 साल पहले थी- दीपिका पादुकोण

अपने दफ्तर पर मोदी सरकार की सीबीआई रेड की प्रतिक्रिया पर केजरीवाल ने ताजा टिवीट में कहा कि मुझपे ब्ठप् की रेड कराई। पर कोंग्रेसीयों पर रेड नहीं करा रहे? इस पर केजरीवाल ने सीधे-सीधे मोदी को निशाना बनाते हुए कहा कि अगस्ता पर मोदी का मौन क्यों है, पहले उन्होंने वाड्रा को बख्श दिया अब कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की रक्षा में है।

सोमवार को जब बीजेपी ने लोकसभा में इस मामले की जांच की मांग उठाई, तो उस वक्त कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी सदन में ही मौजूद थे। बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा, हम सदन में इस पर चर्चा चाहते हैं और रक्षा मंत्री को इस मामले में उठ रहे सभी प्रश्नों के जवाब देने चाहिए।

Also Read:  अमर सिंह को 'जेड' श्रेणी की सुरक्षा, सपा की आंतरिक कलह के कारण लिया गया फैसला

वीवीआईपी लोगों के लिए विशेष हेलीकॉप्टरों की खरीद के लिए अगस्ता वेस्टलैंड जुड़ा हुआ है। 2010 में भारत सरकार ने अगस्ता वेस्टलैंड के साथ हेलीकॉप्टर खरीदने का करार किया था। ये करार 3,600 करोड़ रुपये का था। इस करार में इटली की कोर्ट ने अपने फैसले में भारतीय नेताओं पर करोड़ों रुपऐ लेने की बात कही हैं।

इन हेलीकॉप्टरों को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दूसरे वीवीआईपी लोगों के लिये खरीदा जा रहा था। 2013 के दौरान तब के रक्षामंत्री ऐ.के. एंटनी ने जांच के आदेश दिए थे। फैसले के मुताबिक भारतीय नेताओं, ब्यूरोक्रेट्स और एयरफोर्स अधिकारियों को कुल 250 करोड़ की रिश्वत दी गई।

Also Read:  मालेगांव ब्लास्ट केस: कर्नल पुरोहित के बाद 2 और आरोपियों को मिली जमानत

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने बुधवार को राज्यसभा में अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को घेरकर कांग्रेस पार्टी के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। कांग्रेस ने उसी दिन शाम 6 बजे कांग्रेस जनरल सेक्रेटरी स्तर की मीटिंग बुलाई। अगली कार्यवाही से पहले इस मसले पर रणनीति बनाने के लिए सोनिया गांधी के घर पर बुलाई गई इस हाई लेवल मीटिंग को 10 जनपथ पर आयोजित किया गया जिसमें में राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे नेता भी शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here