‘यूपीए-2 की तरह ही मोदी सरकार पर भी लग सकता है भ्रष्टाचार का ठप्पा’

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आगाह किया है कि भ्रष्टाचार के जिन आरोपों ने यूपीए-2 को डुबोया, वैसे ही आरोप अपने कार्यकाल के समापन की ओर बढ़ रही नरेंद्र मोदी सरकार पर भी लग सकते हैं। चिदंबरम ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस नीत यूपीए-2 सरकार पर उसके कार्यकाल के अंतिम दौर में भ्रष्टाचार के कई आरोप लग चुके थे। उन्होंने कहा कि अपने कार्यकाल की समाप्ति (2019 में) पर यही धब्बा बीजेपी सरकार पर भी लग सकता है, हालांकि वह नहीं चाहते कि ऐसा हो।चिदंबरमन्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, चिदंबरम ने शनिवार (18 नवंबर) को मुंबई स्थिति टाटा लिटरेचर लाइव महोत्सव में एक परिचर्चा में कहा कि अपना कार्यकाल पूरा करने वाली पिछली सरकार यूपीए की थी। वह यूपीए का दूसरा कार्यकाल था और उस पर धब्बा लगा। किसी भी सरकार का पांच साल का कार्यकाल पूरा होने तक इंतजार करें, उस पर भी पिछली सरकार की तरह ही धब्बा लगेगा।

यूपीए सरकार में मंत्री रह चुके चिदंबरम ने हालांकि कहा कि मैं नहीं चाहता कि ऐसा हो, लेकिन ऐसा होगा। पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि, ‘यूपीए सरकार के कार्यकाल के आखिरी दिनों में उस पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे। जब तक किसी को दोषी नहीं ठहराया जाता और सजा नहीं दी जाती, तब तक मैं यह मानने को तैयार नहीं हूं कि वह दोषी है।’

चिदंबरम ने कहा कि जब तक सामने वाला बेकसूर साबित नहीं हो जाता तब तक उसे दोषी समझा जाता है और मेरे विचार से यह गलत है, क्योंकि इससे देश में कानून का शासन प्रभावित होगा। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य ने कहा कि भ्रष्टाचार का मुख्य कारण लालच है जो चुनाव के लिए धन की जरूरत से जुड़ा है।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक व्यक्ति या राजनीतिक दल के मामले में, चुनाव के लिए पैसा जरूरी है जो उस राह पर भेजता है जिसे आप भ्रष्टाचार कहते हैं। जब तक आप चुनाव के लिए धन के रास्ते नहीं खोज लेते तब तक आप भ्रष्टाचार को कम नहीं कर पाएंगे।

भाषा के मुताबिक चिदंबरम ने दावा किया कि जहां तक जाली नोटों पर रोकथाम की बात है तो नोटबंदी निराशाजनक रूप से विफल रही। उन्होंने आरोप लगाया कि अगर आप जानना चाहते हैं कि नोटबंदी कहां विफल रही, तो जहां आप भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लगा सके, आप काले धन पर रोकथाम नहीं कर सके और अब गुजरात में जाकर अगले 20 दिन तक रहकर देखिए तो आपको पता चल जाएगा कि वहां किस तरह का पैसा खर्च किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here