गुजरात चुनाव: मनमोहन सिंह का प्रधानमंत्री पर वार, कहा- मोदी ने गुजरातियों को दिया धोखा

0

गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है, राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी उतनी ही तेज होती जा रहीं है। एक तरफ राज्य में सत्ता बरकरार रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहित तमाम बीजेपी के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री एड़ी-चोटी का जोर लगा दिए हैं। वहीं दूसरी तरफ राज्य में 1990 के बाद विधानसभा में एक भी चुनाव न जीतने वाली कांग्रेस इस चुनाव में जीतने के ख्वाब देख रही है।मोदीइस बीच पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुरुवार (7 दिसंबर) को मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए पूर्व पीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री गुजरात से हैं, लेकिन मोदी जी ने गुजरात के व्यापारियों और लोगों को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्र की सुरक्षा को बीजेपी की अस्थिर विदेश नीतियों के कारण नुकसान हुआ है। मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कुछ कदम देश के हित में नहीं थे।

Also Read:  गाय का गोबर परमाणु बम के खतरे से बचने में कारगर: आरएसएस

मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी का जो बेसिक लक्ष्य था, वही फेल हुआ है। भ्रष्टाचार अभी भी हो रहा है। सिंह ने मांग की, कि नोटबंदी से जुड़े सभी दस्तावेज संसद और जनता के सामने लाने चाहिए। पूर्व पीएम सिंह ने कहा कि UPA सरकार के दौरान जिस पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई, लेकिन यही बात बीजेपी के बारे में नहीं कही जा सकती। बीजेपी ने भ्रष्टाचार पर कोई कार्रवाई नहीं की।

Also Read:  केजरीवाल, जैन और मुझे गिरफ्तार करने की साजिश बना रहा है केंद्र: सिसोदिया

उन्होंने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष के बेटे के मामले में भी कोई एक्शन नहीं लिया गया। गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण को लेकर प्रचार का आज आखिरी दिन है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इसी के मद्देनजर राजकोट पहुंचे, जहां उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्र की मोदी सरकार और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

Also Read:  त्रिपुरा के राज्यपाल ने RSS के चश्मे से पढ़ा विधानसभा में अपना भाषण, मोदी सरकार में हुई सांप्रदायिकता और नोटबंदी वाले हिस्से को नहीं पढ़ा

सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, ‘यूपीए के 10 सालों की बराबरी के लिए केंद्र को देश की अर्थव्यवस्था औसतन पांचवें वर्ष में 10.6 फीसदी तक बढ़ानी होगी, मुझे खुशी होगी अगर ऐसा होता है, लेकिन मैं स्पष्ट रूप से नहीं सोचता कि ऐसा होगा।’ बता दें कि गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में वोटिंग होनी है, जबकि 18 को नतीजे आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here