ओडिशा: बीफ के शक में भीड़ ने ट्रक को किया आग के हवाले, जान बचाकर भागा ड्राइवर

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद भी कथित गोरक्षकों के भेष में हिंदुत्व आतंकियों का उत्पात देश में थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिसका ताजा मामला ओडिशा से आया है। ओडिशा के बेहरामपुर में बीफ ले जाने के शक में भीड़ द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक ट्रक को आग के हवाले कर दिया गया।

(HT PHOTO)

भीड़ का आरोप था कि ट्रक में ट्राइवर बीफ लादकर ले जा रहा था। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जब भीड़ ने हमला किया तो ट्रक चालक और क्लीनर दोनों मौके से फरार हो गए। ट्रक बिहार से मुंबई जा रहा था और रास्ते में संतुलन बिगडने से पलट गया। इसके बाद ट्रक से एक पैकेट गिर गया।

स्थानीय लोगों का आरोप था कि उस पैकेट में बीफ है। बेरहामपुर सदर के एसडीपीओ अशोक कुमार मोहंती ने कहा कि पैकेट की जांच करायी जाएगी, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उसमें बीफ है या नहीं। इस बीच इलाके में तनाव फैल गया और लोग ट्रक चालक तथा क्लीनर की गिरफ्तारी की मांग करते हुए सड़क को जाम कर दिया।

आपको बता दें कि केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद से बीफ के शक में इस तरह से हिंसा की खबरें आम हो चली हैं। गाय का मांस या गाय की तस्करी करने की अफवाह पर भीड़ द्वारा पीटकर हत्या करने के कई मामले लगातार सामने आए हैं। मुसलमानों के खिलाफ बढ़ती हिंसा को लेकर भारतीय मुसलमान गुस्से में हैं।

पिछले दिनों दिल्ली से मथुरा जा रही ईएमयू ट्रेन में मामूली विवाद के बाद 22 जून को हरियाणा के बल्लभगढ़ निवासी मुसलमान युवक जुनैद खान की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। जिसे लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध-प्रदर्शन किया गया, जिसमें देश भर में भीड़ द्वारा जगह-जगह की जा रही हत्याओं के खिलाफ आवाज उठाई गई।

PM मोदी ने तोड़ी चुप्पी

पीएम मोदी ने भीड़ के द्वारा धर्म के नाम पर हो रही हिंसा को लेकर 22 जून को चुप्पी तोड़ते हुए बड़ा बयान दिया। पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश के वर्तमान माहौल की ओर अपनी पीड़ा व्यक्त करना चाहता हूं और अपनी नाराजगी भी व्यक्त करता हूं। गाय पर बोलते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं है। उनकी टिप्पणी कथित गोरक्षकों द्वारा किए गए हालिया हमलों और विरोध प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि में आई है। महात्मा गांधी के गुरू श्रीमद राजचंद्रजी की 150वीं जयंती के मौके पर मोदी ने गुजरात के साबरमती आश्रम में संबोधन के दौरान यह बात कही।

हिंसा की कुछ बड़ी वारदातें

  • 22 जून को बल्लभगढ़ में ट्रेन से सफर कर रहे जुनैद नामक युवक की कथित तौर पर बीफ को लेकर हुए विवाद में हत्या कर दी गई। जबकि उसके दो भाइयों को घायल कर दिया।
  • 30 अप्रैल को असम के नागौन जिले के पास गाय चोरी के आरोप में दो मुस्लिमों की हत्या कर दी।
  • 1 अप्रैल को राजस्थान के अलवर में 50 वर्षीय पहलू खान की गोतस्करी के आरोप में स्वयंभू गोरक्षकों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।
  • 29 जून को प्रतिबंधित मांस ले जाने के आरोप में झारखंड में एक युवक को बेकाबू भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला।भीड़ ने सुबह साढ़े नौ बजे मनुआ-फुलसराय निवासी अलीमुद्दीन अंसारी को इतना पीटा कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।
  • 26 जुलाई 2016 को मंदसौर स्टेशन पर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने बीफ ले जाने के शक में दो मुस्लिम महिलाओं की बर्बर तरीके से पिटाई की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here