बिहार: लॉकडाउन के बीच मॉब लिंचिंग, बैल चोरी करने के आरोप में दो लोगों को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला

0

कोरोना लॉकडाउन के बीच भी देश में मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या) की घटनाएं रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं, जिसका ताजा मामला एक बार फिर से देखने को मिला है। बिहार के जमुई जिले के सिमुलतला थाना क्षेत्र में कथित रूप से मवेशी (पालतू जानवरों) को चोरी करने के आरोप में दो लोगों को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला। सूचना मिलने पर सुबह पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बिहार

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि सोमवार की देर रात तिलौना गांव में दो लोग एक घर के बाहर बंधे बैल की चोरी कर ले जा रहे थे। बैल ले जाने के क्रम में ग्रामीणों ने चोर को रंगे हाथों पकड़ लिया और गांव में शोर मच गई। गांव के लेाग जुट गए और चोर की जमकर पिटाई कर दी, जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई।

ग्रामीणों के मुताबिक, चोर एवं ग्रामीणों के बीच मारपीट के दौरान चोर ने भी जान बचने तक खूब संघर्ष किया। मृतकों की पहचान चंद्रमंडी थाना के मानसिंघडी गांव के रहने वाले लालमोहन पासवान एवं नागेश्वर पासवान के रूप में हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि कई अन्य चोर भागने में सफल रहे।

घटना बीती रात लगभग 1 बजे की बताई जा रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि बीते कई महीनों से वो गांव में हो रही चोरी की घटना से परेशान थे। मवेशी की चोरी और गांव में बोरिंग पंप की चोरी घटनाएं लगातार हो चुकी हैं।

सिमुलतला पुलिस देर रात्रि को घटना स्थल पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के जमुई भेज दिया है। जमुई के पुलिस अधीक्षक इनामुल हक ने मंगलवार को बताया कि दोनों मृतक पहले भी चोरी की घटनाओं को अंजाम देते रहे हैं तथा इनका अपराधिक इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here