दिल्ली: चलती बस में इमाम से बदसलूकी, युवकों ने जबरन लगवाए ‘जय माता दी’ और ‘जय श्री राम’ के नारे

0

देश की राजधानी दिल्ली में चलती बस के दौरान एक इमाम से कथित तौर पर बदसलूकी का मामला सामने आया है। ख़बर के मुताबिक, चलती बस में दो युवकों ने एक इमाम से जबरन ‘जय माता दी’ और ‘जय श्री राम’ के नारे लगवाए। फिलहाल, पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रहीं है।

image- NBT

नवभारत टाइम्स की ख़बर के मुताबिक, दिल्ली के बवाना इलाके के जेजे कॉलोनी में रहने वाले यह इमाम सोमवार(9 मार्च) की रात 11 बजे शाहबाद डेयरी से रूट नंबर 116 की बस में घर जा रहे थे। आरोप है, बस के अंदर ही प्रहलादपुर गांव के दो युवक 27 वर्षीय इमाम को देखकर उलटा-सीधा बोलने लगे।

दोनों युवकों ने इमाम से पूछा कि तुम क्या हिंदुस्तानी हो? इमाम ने कहा कि हां मैं हिंदुस्तान में रहता हूं और हिंदुस्तानी हूं। फिर इन युवकों ने इमाम से ‘जय माता की’ बोलने को कहा। इमाम ने ‘जय माता की’ भी बोल दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, बाद में दोनों युवक इमाम से हाथापाई करने लगे। डरे सहमे इमाम जब बवाना चौक स्टेंड पर बस से उतर रहे थे, तब भी दोनों युवकों ने उनका रास्ता रोकने की कोशिश की।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, बस से उतरने के बाद इमाम ने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को इस घटना के बारे में जानकारी दी। फिलहाल, पुलिस केस दर्ज कर आरोपों की जांच कर रही है। पुलिस अफसरों का कहना है कि सीट को लेकर विवाद हुआ था।

वहीं, इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक 27 वर्षीय इमाम ने यह भी आरोप लगाया कि जब उसने विरोध करने की कोशिश की तो उनमें से एक ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। पुलिस ने कहा कि आईपीसी की धारा 323 (चोट पहुंचाना) और धारा 341 (गलत तरीके से व्यवहार करना) के तहत प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज कर ली गई है, लेकिन अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, शिकायतकर्ता मौलाना मोहम्मद आफताब आलम जो कि बवाना के जेजे कॉलोनी स्थित अबूबकर मस्जिद में इमाम हैं, उन्होंने बताया कि वे 2008 से दिल्ली में परिवार के साथ रहते हैं। इमाम ने आरोप लगाया कि उस दौरान दो लोगों ने न सिर्फ उसके साथ दुर्व्यवहार किया बल्कि उसकी दाढ़ी भी खींची।

रिपोर्ट के मुताबिक, आलम ने कथित तौर पर कहा कि, ‘उन लोगों ने पूछा कि क्या मैं भारतीय हूं और मैंने कहा हां। जब मैंने उनके दुर्व्यवहार का विरोध किया, तो उनमें से एक ने मुझे तमाचा मार दिया। मैं डर से कांपने लगा, फिर उन्होंने मुझसे ‘जय माता दी’ और ‘जय श्री राम’ जैसे नारा लगाने को कहा, जो कि मैंने किया, लेकिन उन्होंने मुझसे दुर्व्यवहार करना जारी रखा और मेरी दाढ़ी खींची।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here