प्रद्युम्न मर्डर केस में आरोपी नाबालिग छात्र ने कहा, CBI बोली जुर्म कबूलो, नहीं तो भाई को मार देंगे

0

गुरुग्राम स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न मर्डर केस के सिलसिले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 16 वर्षीय छात्र को गिरफ्तार किया है। लेकिन अब इस मर्डर मिस्ट्री में एक नया मोड़ देखने को मिला है, इस केस में आरोपी नाबालिग छात्र ने सीबीआई पर धमकी देकर जुर्म कबूल करवाने का आरोप लगाया है।

प्रद्युम्न मर्डर केस
प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई द्वारा आरोपी बनाया गया छात्र

दरअसल सोमवार(13 नवंबर) को आरोपी की काउंसिलिंग और उसके बयान दर्ज करने पहुंची बाल सुरक्षा एंव सरंक्षण अधिकारी के सामने उसने कहा, मैंने प्रद्युम्न की हत्या नहीं की, सीबीआई ने मुझसे यह जुर्म कबूल करने के लिए कहा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीडब्ल्यूओ रीनू सैनी के सामने आरोपी छात्र ने आरोप लगाया कि, ‘सीबीआई ने मुझसे कहा कि यह जुर्म तुझे कबूल करना पड़ेगा। यदि ऐसा नहीं किया तो हम तेरे भाई की हत्या कर देंगे, मैं अपने भाई को बहुत प्यार करता हूं, उसे मरते हुए नहीं देख सकता। इसलिए सीबीआई वालों ने जैसा कहा, वैसा करता रहा हूं।

Also Read:  LIVE चैंपियंस ट्रॉफी: महामुकाबले में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का लिया फैसला

रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई के अफसर और सीपीडब्ल्यूओ रीनू सैनी सोमवार को बाल सुधार गृह पहुंचे। वहां रीनू ने आरोपी छात्र से करीब दो घंटे तक एक अलग कमरे में बातचीत की, बातचीत में उन्होंने पूरा घटनाक्रम जानना चाहा। आरोपी ने बताया कि सीबीआई की थ्योरी और गिरफ्तारी के आधार से बिल्कुल अलग है। उसने प्रद्युमन की हत्या नहीं की है, उससे जबरन जुर्म कबूल कराया गया है।

आरोपी के बयान को बाल सुरक्षा एवं संरक्षण अधिकारी ने लिख लिया है, अब इस लिखित रिपोर्ट को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के पास भेजा जाएगा। ख़बर के मुताबिक, इसके साथ ही सीबीआई की मौजूदगी में आरोपी की परिजनों से एक घंटे तक मुलाकात कराई गई। इस दौरान मां किशोर के साथ लिपटकर रोती रही, छोटा भाई भी अपने आप को नहीं रोक सका और रोने लगा।

Also Read:  जेट एयरवेज की फ्लाइट में 35,000 फीट की ऊंचाई पर हुआ बच्चे का जन्म

वहीं, दूसरी ओर प्रद्युमन का परिवार अब आरोपी छात्र के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहा है। परिवार की यह मांग है कि छात्र को बालिग मानकर इस केस में फैसला सुनाया जाए। पिता वरुण ठाकुर ने कहा कि हम लोग कोर्ट में एक याचिका देने पर विचार कर रहे हैं कि आरोपी को बालिग मानकर उसके खिलाफ सुनवाई की जाए।

बता दें कि गुरुग्राम स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल में शुक्रवार(8 सितंबर) सुबह दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया था। बॉडी टॉयलेट में मिली थी। पुलिस ने हत्या के आरोप में बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार कर रखा है। जब अशोक को गिरफ्तार किया गया था जब उस वक्त आरोपी ने हत्या की बात कबूल की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था।

Also Read:  राहुल ने कहा-NDA के पास कश्मीर को लेकर कोई रणनीति नहीं, जब से जम्मू-कश्मीर में PDP-BJP गठबंधन हुआ आतंकवाद की घटनाएं बढ़ी

आरोपी ने बदला बयान

प्रद्युम्न की हत्या के आरोपी बस कंडक्टर अशोक ने सोमवार(18 सितंबर) को अपना बयान बदल लिया है। सोमवार को विशेष कोर्ट में कहा कि उसने प्रद्युम्न की हत्या नहीं की, बल्कि पुलिस के दबाव में अपराध कबूल किया। आरोपी ने कहा कि उसे पुलिस ने फंसाया है और हत्या का जुर्म कबूल करने के लिए उस पर दबाव बनाया गया।

बाद में सीबीआई ने इस मामले की जांच की तो इसके बाद 11वीं के स्टूडेंट को इस मर्डर केस में आरोपी बनाया गया।सीबीआई का कहना है कि गुरूग्राम पुलिस ने जांच के दौरान सबूत मिटाने का प्रयास किया है और बस कंडक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here