मेट्रोमैन ई. श्रीधरन ने लखनऊ मेट्रो के प्रधान सलाहकार पद से दिया इस्तीफा

0

मेट्रो मैन के नाम से मशहूर और लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एलएमआरसी) के प्रधान सलाहकार इंजीनियर ई. श्रीधरन ने स्वास्थ्य संबंधी कारणों का हवाला देते हुए एलएमआरसी को अपना इस्तीफा भेज दिया है। वहीं, एलएमआरसी ने त्याग पत्र को शासन को भेजकर अवगत कराया है। मेट्रो मैन लखनऊ मेट्रो परियोजना से शुरुआती दौर से जुड़े हुए हैं।

(File photo Indian Express)

लखनऊ मेट्रो के प्राथमिक फेस के शुभारंभ में वे लखनऊ आए थे। एलएमआरसी के प्रधान सलाहकार के तौर पर श्रीधरन (87) पिछले कुछ माह से लखनऊ नहीं आए थे। दूसरे चरण में करिडोर पर जब मेट्रो संचालन शुरू हुआ, तब भी स्वास्थ्य खराब होने के कारण वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे।

लखनऊ मेट्रो के अधिकारियों की माने तो स्वास्थ खराब होने के बाद भी वह बराबर प्रबंध निदेशक कुमार केशव के संपर्क में थे, हर काम की जानकारी फोन पर लेते रहे। वे लखनऊ के अलावा आगरा, कानपुर व गोरखपुर में मेट्रो परियोजनाओं में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थे। इसी का नतीजा है कि लखनऊ में ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर के अलावा प्रदेश के तीन जिलों में मेट्रो का डीपीआर जहां बन चुका है। कानपुर व आगरा में मेट्रो का टेंडर भी जून में निकलने वाला था।

एलएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से कहा, “श्रीधरन ने व्यक्तिगत रूप से उत्तर-दक्षिण करिडोर के निर्माण कार्य की निगरानी की। भूमिगत अनुभाग के निर्माण में उनका मूल्यवान मार्गदर्शन बहुत महत्वपूर्ण था। मैंने उनसे इस्तीफा नहीं देने का अनुरोध किया था, लेकिन उन्होंने कहा कि उनका स्वास्थ्य इस समय काम करने की इजाजत नहीं दे रहा है।”

श्रीधरन भारत के प्रख्यात सिविल इंजीनियरों में से एक हैं। वे 1995 से 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे। उन्हें भारत के ‘मेट्रो मैन’ के रूप में भी जाना जाता है। भारत सरकार द्वारा उन्हें 2001 में पद्म श्री तथा 2008 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here