मानसिक रूप से विक्षिप्त लड़की को बलात्कार के डर से पत्थरों से बांधकर रखती है उसकी मां

0

पिछले सप्ताह बिहार के जहानाबाद के एक स्कूल में मानसिक रूप से विक्षिप्त एक 12 वर्षीय छात्रा के साथ स्कूल के अध्यापकों ने ही सामुहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। इसके अलावा दिमागी रूप से कमजोर बच्चों को अक्सर यौन शोषण का आसानी से शिकार बना लिया जाता है। दिमागी रूप से कमजोर अम्रीका की कहानी इससे जुदा नहीं है।

अनजाने भय के कारण अम्रीको को उसकी मां पत्थरों से बांधकर रखती है। मां को डर है कि मानसिक रूप से बीमार बेटी कहीं भाग न जाए, किसी बस के नीचे न आ जाए, उसके साथ कहीं रेप न हो जाए…, वह बेटी को 24 घंटे बांधकर रखने को मजबूर है। भारी पत्थरों के क्रेट से रस्सी के जरिए बेटी अम्रीका को बांधकर मां बेटी को सुरक्षित रखने की कोशिश करती है।

दिमागी रूप से कमजोर अम्रीका और बच्चों के साथ खेलना चाहती है, वो भागना-दौड़ना चाहती है। लेकिन मां को डर है कहीं उसके भोलेपन का फायदा कोई हादसा उनकी बेटी के साथ ना हो जाए।

अहमदाबार मिरर की खबर के अनुसार अम्रीका की मां मुश्किल से गुजर बसर करती है। हमारे समाज के लिए इस तरह की विडम्बना एक गम्भीर चेतावनी की तरह से है। अम्रीका की मां सविता अपनी बेटी को बहुत प्यार करती है लेकिन सुरक्षा के चलते उसे इस तरह बांधकर रखना उसकी मजबूरी है।

क्योंकि उसके पास अम्रीका के इलाज के लिए पैसे नहीं है। शिव मंदिर के बाहर पत्थरों से बंधी हुई अम्रीका इस तरह की जिन्दगी जीने को मजबूर है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here