पाकिस्तान के कब्जे से जवान चंदू बाबूलाल को वापस लाने के लिए कोशिशें जारी

0

रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि सेना के जवान चंदू बाबूलाल चव्हाण को पाकिस्तान से वापस लाने के लिए डीजीएमओ के जरिये एक सुगठित तंत्र को सक्रिय कर दिया गया है. चव्हाण गलती से सीमा पार कर गए थे जिसके बाद पाकिस्तान ने उन्हें पकड़ लिया।

भाषा की खबर के अनुसार, पर्रिकर ने कहा, ‘वह सीमा पार कर गए, ऐसा सीमाई इलाकों में होता रहता है. डीजीएमओ (सैन्य अभियान महानिदेशक) के जरिये एक सुगठित तंत्र को सक्रिय कर दिया गया है.’ उन्होंने साथ ही कहा कि लोगों को सतर्क रहना चाहिए और किसी भी असामान्य चीज की पुलिस को जानकारी देनी चाहिए।

Also Read:  शिक्षा लक्ष्यों को हासिल करने में 50 साल पीछे रह जाएगा भारत : यूनेस्को

बीती 30 सितंबर को 37 राष्ट्रीय रायफल्स के जवान चव्हाण गलती से नियंत्रण रेखा पार कर गए थे. डीजीएमओ ने हॉटलाइन पर पाकिस्तान को इसकी जानकारी दे दी है. सेना ने कहा, ‘दोनों ही तरफ सेना और आम नागरिकों का गलती से सीमा पार कर जाना असामान्य नहीं है. उन्हें मौजूदा तंत्रों के जरिये वापस ले आया जाता है।’

Also Read:  सहारा बिड़ला रिश्वत डायरी के मामले पर क्यों नाराज हुए सुप्रीम कोर्ट के जज

इससे पहले शुक्रवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सैनिक के परिवार को फोन कॉल कर उसकी रिहाई के लिए पूरी कोशिशें किए जाने को लेकर आश्वस्त किया था. चव्हाण के साथ हुई घटना की खबर सुनकर उसकी दादी की सदमे से मौत हो गई।

Also Read:  उरी आतंकवादी हमले पर पाकिस्तान ने भारत के आरोपों को बताया बेबुनियाद मांगे सबूत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here