MCD चुनाव 2017: टिकट कटने के बाद दर दर भटकते BJP पार्षद, पार्टी में बगावत के सुर तेज

0

दिल्ली में अगले महीने होने वाले नगर निगम के चुनाव (एमसीडी) चुनाव में टिकट पाने के लिए भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के वर्तमान पार्षद पार्टी के आला नेताओं से मुलाकात के लिए दर-दर भटक रहे हैं। लेकिन उन्हें आश्वासन मिलने के बजाय कुछ जगह तो झिड़की तक सुननी पड़ रही है। फिलहाल उन्हें कहीं से भी टिकट का ठोस आश्वासन नहीं मिला है।

 

टिकट को लेकर इन पार्षदों के बड़े नेताओं से मिलने का दौर मंगलवार से ही चल रहा है। इस क्रम में बुधवार(23 मार्च) को करीब 60 पार्षदों ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और वैंकैया नायडू से मुलाकात की। हालांकि, दोनों की ओर से पार्षदों को निराशा ही हाथ लगी, क्योंकि उन्हें अभी भी कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है।

बता दें कि एमसीडी के होने वाले चुनाव को लेकर बीजेपी आलाकमान ने निर्णय लिया है कि इस बार सभी 272 सीटों पर नए उम्मीदवारों को उतारा जाएगा। पार्टी इस चुनाव में किसी भी वर्तमान पार्षद या उसके रिश्तेदारों को टिकट नहीं देगी। इसका कोई ठोस कारण नहीं बताया गया है, लेकिन कहा जा रहा है कि पार्टी को तीनों एमसीडी में भ्रष्टाचार की गंभीर शिकायतें मिली थी, जिसके बाद किसी को भी टिकट न देने का फैसला लिया गया।

हालांकि, बीजेपी को यह फैसला भारी पड़ता जा रहा है, क्योंकि निगम चुनाव के नामांकन की तारीख नजदीक आते ही पार्टी में बगावत के सुर तेज होने लगे हैं। मौजूदा निगम पार्षदों और उनके रिश्तेदारों में किसी को टिकट नहीं देने के आलाकमान के फैसले के खिलाफ पार्षद गोलबंद होने लगे हैं।

पार्षदों का कहना है कि जिस किसी पर भ्रष्टाचार आदि का गंभीर आरोप है तो उसको टिकट न दिया जाए, लेकिन इलाके में संतोषजनक कार्य करने वाले और पार्टी की हर गतिविधियों में जुड़े पार्षदों का टिकट तो न काटा जाए। बताया जा रहा है कि दो दिनों से चल रही उनकी गतिविधियों पर पार्टी नजर बनाए हुए हैं। बता दें कि दिल्ली नगर निगम का चुनाव 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे, जबकि 26 अप्रैल को नतीजे आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here