MCD चुनाव में जीत को सुकमा में शहीद हुए CRPF जवानों को समर्पित करेगी BJP, नहीं मनाएगी जश्न

0

दिल्ली के तीनों नगर निकायों में भारी जीत की ओर बढ़ रही भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने बुधवार(26 अप्रैल) को अपनी जीत को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में शहीद हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को समर्पित किया है और किसी भी जश्न से दूर रहने का फैसला किया है।बता दें कि छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार(24 अप्रैल) को नक्सलियों ने बड़े हमले को अंजाम दिया। घात लगाकर किए गए इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए। जबकि आठ जवान घायल हैं, जिनमें चार की हालत गंभीर है। नक्सली जवानों के हथियार भी लूट कर ले गए हैं।

Also Read:  मानवाधिकार कार्यकर्ता हर्ष मंदेर का आरोप, RSS विचारक राकेश सिन्हा की धमकी के बाद आयकर विभाग ने भेजा नोटिस

दिल्ली बीजेपी के प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि सुकमा में सीआरपीएफ के 25 जवानों की मौत पर हर दिल दर्द से भरा हुआ है और पार्टी चुनावी जीत का जश्न नहीं मनाएगी। बता दें कि चुनावी रूझानों के अनुसार, 270 वार्डों में से अधिकतर वार्डों में बीजेपी के उम्मीदवार अपने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में बढ़त बनाए रहे। इन वार्डों के लिए चुनाव पिछले रविवार को हुए थे।

Also Read:  शिवसेना कार्यकर्ताओं ने मुझे जान से मारने की कोशिश की : किरीट सोमैया

उन्होंने कहा कि ‘लेकिन सुकमा की घटना के चलते, हम लोग इस भारी जीत का जश्न मनाने के लिए सड़कों पर नहीं उतरेंगे। हम इस जीत को सुकमा के शहीदों के चरणों में समर्पित करते हैं।’ तिवारी ने इस बात पर भी जोर दिया कि एमसीडी चुनाव के नतीजे केजरीवाल सरकार के प्रति एक जनादेश है।

तिवारी ने कहा कि ‘हम पहले भी यह कहते आ रहे हैं कि एमसीडी चुनाव केजरीवाल सरकार के लिए जनादेश होंगे। अरविंद केजरीवाल अकसर राइट टू रीकॉल का समर्थन किया करते थे और अब ऐसा लगता है कि दिल्ली की जनता ने उन पर इस अधिकार का इस्तेमाल किया है।’

Also Read:  VIDEO: हरियाणा में स्कूली लड़कियों को रास्तें में रोक कर मनचलों ने किया टार्चर, जान बचाने के लिए लड़कियों ने मांगी माफी

बता दें कि मतगणना की शुरूआत बुधवार को सुबह आठ बजे हुई और बीजेपी को तीनों नगर निगमों- एनडीएमसी, एसडीएमसी और ईडीएमसी में बढ़त मिली। कुल 272 वाडरें में से 270 वार्डों के लिए चुनाव 23 अप्रैल को हुआ था। दो वार्डों में उम्मीदवारों की मौत हो गई थी और मतदान रद्द हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here