उत्तर प्रदेश की राजनीति में नया मोड़, योगी सरकार ने शिवपाल को दिया मायावती का बंगला

0

उत्तर प्रदेश की राजनीति में शुक्रवार (12 अक्टूबर) को एक नया राजनीतिक मोड़ देखने मिला। दरअसल, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव से बगावत करने वाले उनके चाचा और समाजवादी सेकुलर मोर्चा के संयोजक शिवपाल यादव को वही बंग्ला आबंटित किया है जो पहले पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का दफ्तर था।

रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य संपत्ति विभाग ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव को बंगला आवंटित किया है। आपको बता दें कि उसमें कभी बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की चीफ मायावती का कार्यालय हुआ करता था। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मायावती इसी बंगले के पास दूसरे बंगले में शिफ्ट हो गई थीं। ऐसे में शिवपाल और मायावती अब पड़ोसी भी हो गए हैं।

गौरतलब है कि बीते सात मई को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी किया था कि पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित किए गए बंगले निरस्त किए जाएं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्य संपत्ति अधिकारी ने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों को 15 दिन के भीतर बंगले खाली करने का नोटिस जारी किया था। बताया जा रहा है कि अब इस बंगले में शिवपाल अपनी पार्टी का दफ्तर बनाएंगे।

शिवपाल ने इस मुद्दे पर एनडीटीवी से कहा है कि वह बहुत सीनियर विधायक हैं और उन्हें बड़े बंगले की जरूरत थी इसलिए सरकार ने उन्हें ऐसा बंगला दिया है। उनका यह भी दावा है कि वह हमेशा से बीजेपी के खिलाफ रहे हैं और उनकी बीजेपी के साथ किसी तरह की सांठगांठ नहीं है.

इस फैसले को कुछ लोग सियासी समीकरण से भी जोड़कर देख रहे हैं। शिवपाल पर योगी सरकार की इस मेहरबानी से कई कयास लगाए जा रहे हैं। उधर, शिवपाल का कहना है कि पांच बार का विधायक हूं इसीलिए टाइप 6 का बंगला मिला है। रिपोर्ट के मुताबिक शिवपाल नए मकान में नवरात्र में ही प्रवेश करेंगे। यह बंगला उन्हें बतौर विधायक आवंटन गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here