मायावती ने BJP को दी चुनौती, कहा- दम है तो EVM नहीं बैलेट पेपर से कराए 2019 का लोकसभा चुनाव

0

उत्तर प्रदेश के गत विधानसभा चुनाव की तरह ही नगर निकाय चुनावों में भी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने जोरदार जीत हासिल की है। नगर निगम, नगर पालिका परिषद और नगर पंचायतों में भाजपा को रिकॉर्ड सफलता मिली है। वहीं दूसरी ओर बीजेपी की इस शानदार जीत के बाद अब एक बार फिर बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने ईवीएम पर सवाल खड़े किए हैं।

"अगर BSP चुनाव हार गई तो विपक्ष में

मायावती ने बैलट पेपर से चुनाव करने की मांग करते हुए कहा कि यदि बीजेपी ईमानदार है और लोकतंत्र में विश्वास करती है तो ईवीएम के इस्तेमाल को बंद करे।

समाचार एजेंसी ANI की ख़बर के मुताबिक उन्होंने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि, अगर बीजेपी ईमानदार है और लोकतंत्र पर विश्वास रखती है तो चुनाव ईवीएम के बदले बैलेट पेपर से करवाए। अगला लोकसभा चुनाव 2019 में है और यदि बीजेपी में साहस है तो वह बैलेट पेपर से चुनाव करके दिखाए।

साथ ही उन्होंने कहा कि, मैं यकीन के साथ कह सकती हूं कि अगर बैलेट पेपर पर वोटिंग की जाएगी तो बीजेपी फिर से सत्ता मे नहीं आएगी।

लखनऊ में डॉ भीमराव अम्बेडकर को बौद्ध दीक्षा दिलाने वाले भिक्षु प्रज्ञानंद के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंची मायावती ने ये बात कही।

मायावती ने निकाय चुनाव में सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अगर धांधली नहीं होती बसपा का प्रदर्शन और अच्छा होता। हालांकि, उन्होंने इस प्रदर्शन पर संतोष भी व्यक्त किया। नगर निकाय चुनाव में मिली जीत से उत्साहित बसपा सुप्रीमो ने अपनी इस जीत को श्रेय सर्वसमाज के लोगो को दिया।

बता दें कि, प्रदेश के निकाय चुनाव में 16 नगर निगमों में से 14 बीजेपी ने जबकि दो पर बसपा ने कब्जा जमाया है। मेरठ और अलीगढ़ के मेयर पद पर बसपा के उम्मीदवार जीते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here