खाते में जमा 104 करोड़ के चंदे पर मायावती का पलटवार कहा- ये पार्टी का पैसा है, कालाधन नहीं

0

नोटबंदी के बाद बसपा के खाते में जमा हुए 104 करोड़ रुपए की खबर द्वारा मी‌‌ड‌िया में सु्र्ख‌ियां बटोरने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेस करके इस मामले पर सफाई दी। उन्होंने कहा क‌ि बीएसपी ने अपने नियमों के तहत हमेशा की तरह बैंक में पैसा जमा करवाया है। ये एक रूटीन प्रक्रिया है।

मायावती

मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने कहा कि यह सब बीएसपी को बदनाम करने की कोशिश हो रही है। उन्होंने दावा किया कि अकाउंट में जायज़ पैसा है। उन्होंने यह भी कहा कि नियमों के मुताबिक पैसे जमा हुए। उनका कहना है कि खबर तोड़-मरोड़ कर दी जा रही है। इसमें कोई हेराफेरी नहीं है।

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक, मायावती ने कहा कि इन्होंने बिना पूरी तैयारी के जल्दबाजी के कालाधन और करप्शन पर अंकुश लगाने की आड़ में नोटबंदी का फैसला लिया। कोई भी विरोधी पार्टी इस पर अपना मुंह खोलने को तैयार नहीं थी। सबसे पहले अकेली बसपा थी, जिसने 10 नवंबर को इनका पर्दाफाश किया था।

उसके बाद अन्य विरोधी पार्टियां साथ आईें। पार्लियामेंट के अंदर भी बाहर भी बहुजन समाज पार्टी ने विरोध किया। इस नोटबंदी के कारण 100 से ज्यादा लोग मर चुके हैं।

मायावती ने कहा कि सोमवार को बीजेपी द्वारा मैनेज किए गए कुछ चैनलों व कुछ अखबारों द्वारा जो खबरें चलाई गईं, जिसमें बसपा द्वारा बैंक में जमा कराए गए धन के बारे में बात कही गई, उस पर उनका कहना है कि बसपा ने अपने नियमों के मुताबिक ही चलकर अपनी एकत्रित हुई धनराशि को जमा कराया।

यह हमारी एक रूटीन प्रक्रिया ही थी, हमेशा की तरह पैसा बैंक में जमा कराया गया। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि पार्टी के कई कार्यकर्ता दूर दराज के इलाकों से हवाईजहाज या अन्य किसी साधन से आते हैं, इसलिए वे बड़े नोट लाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here