शाहरूख को देखने निजामुद्दीन स्टेशन पर पहुंची हजारों लोगों की भीड़

0

शाहरूख को देखने के लिए उनके हजारों प्रशंसक निजामूद्दीन स्टेशन पर पहुंचे है। शाहरूख अपनी फिल्म रईस का प्रमोशन करने के लिए दिल्ली ट्रेन से पहुंचे है। इस प्रकार से फिल्म के प्रचार का ये नया तरीका निकाला गया है।

शाहरूख

आपको बता दे कि इससे पूर्व कल रात में जब ये ट्रेन वडोदरा स्टेशन पहुंची थी तब लाठीचार्ज के दौरान दम घुटने के कारण फरीद खान नामक व्यक्ति की मौत हो गई थी। जिसे शाहरूख ने दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया है।

रईस’ के प्रमोशन के लिए शाहरुख ट्रेन से यात्रा कर रहे हैं। इस दौरान वडोदरा स्टेशन पर शाहरुख को देखते ही भगदड़ मच गई, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। इस अफरा-तफरी में 4 लोग बेहोश हो गए जिसमें 2 पुलिसवाले भी थे। इसके अलावा कई लोग इस भगदड़ में घायल हो गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे पुलिस ने बताया कि शाहरुख की एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां आए थे। यह भीड़ उस समय बेकाबू हो गई जब ट्रेन स्टेशन से रवाना होने लगी। शाहरुख को देखने की कोशिश कर रहे लोग एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे।

शाहरुख ट्रेन से रात 10:30 बजे वडोदरा स्टेशन पहुंचे। स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 6 पर ट्रेन 10 मिनट रुकी थी। शाहरुख की आने की खबर के कारण स्टेशन में भारी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए थे।

हजारों लोगों की भीड़ से प्लेटफार्म ठसाठस भर गया था। यहीं पर मारे गए पूर्व पार्षद फरीद खान अपने रिश्तेदारों छोड़ने के लिए आए थे। लेकिन जब शाहरुख खान वहां पहुंचे तो उन्होंने ने वहां पहुंचने की सोची। लेकिन बेकाबू भीड़ का शिकार हो गए।

इसके बाद मीडिया से बात करते हुए शाहरुख खान ने बताया कि हमारी टीम की सहयोगी समीना के रिश्तेदार फरीद की मौत दिल का दौरा पड़ने के कारण हुई।

उनकी मौत हमारे जाने के बाद हुई। मैं अपनी तरफ से हर सम्भव मदद करने के लिए तैयार हूं। मैंने इरफान पठान से भी उनकी मदद करने के लिए कहा है। शाहरुख खान ने फरीद खान की मौत को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

अभी इस बात की पुलिस जांच कर रही हैं कि फरीद खान भीड़ के बेकाबू होने की वजह से मारे गए या फिर दिल का दौरा पड़ने के कारण उनकी जान गई।

रेलवे पुलिस ने बताया कि शाहरुख की एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां आए थे। यह भीड़ उस समय बेकाबू हो गई जब ट्रेन स्टेशन से रवाना होने लगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here