आरक्षण की मांग को लेकर मुंबई की सड़क पर उतरे लाखों मराठा, शहर के कई हिस्सों में लगा जाम

0

महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण के लिए मुंबई में बुधवार(9 अगस्त) को एक बार फिर से मराठा क्रांति मोर्चा का प्रदर्शन किया है। इसकी शुरुआत सुबह 11 बजे से हो गई है और शाम पांच बजे इसको खत्म किया जाएगा। माना जा रहा है कि इस प्रदर्शन में लगभग 10 लाख लोग सड़कों पर होंगे, प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन और मुंबई पुलिस ने अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर रखी है।

मराठा
फाइल फोटो

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दस हजार पुलिसकर्मियों के साथ-साथ ड्रोन और सीसीटीवी के जरिए पूरे मार्च पर नजर रखी जा रही है। इसके अलावा दक्षिण मुंबई के स्कूलों को बंद रखा गया है। ख़बरों के मुताबिक, कुछ सड़कों पर ट्रैफिक की आवाजाही भी रोक दी गई है। इसके कारण बुधवार(9 अगस्त) को सुबह से ही शहर के कई हिस्सों में जाम लग गया है।मोर्चे को लेकर मुंबई ट्रैफिक पुलिस ने पहले ही ऐहतियात बरतने की बात कह चुकी है।

मराठा क्रांति मूक मोर्चा के आयोजकों का कहना है कि हम इसे 57 जगहों पर कर रहे हैं। जनसत्ता की ख़बर के मुताबिक, माना जा रहा है कि मराठा समुदाय की आरक्षण के लिए यह आखिरी रैली होगी। यह तीसरी रैली है, इससे पहले हुई दो बार की रैलियां आपसी मतभेदों के चलते फेल हो गईं।

जानिए क्या है मराठा समुदाय की मांग?

ये लोग सरकारी नौकरी और पढ़ाई-लिखाई में मराठा के लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा समुदाय की प्रमुख मांग है कि पिछले साल अहमदनगर के कोपर्डी में नाबालिग के गैंगरेप और मर्डर के आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए। यह मामला अभी कोर्ट में लंबित है। समुदाय दलित उत्पीड़न रोकथाम कानून में भी बदलाव की मांग कर रहा है क्योंकि उसका आरोप है कि इस कानून का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग हो रहा है।

जानिए क्या है कोपर्डी कांड?

कोपर्डी में एक नाबालिग की गैंगरेप के बाद मर्डर की वारदात है, बता दें कि पिछले साल 13-14 जुलाई को अहमदनगर जिले के कोपर्डी गांव में एक मराठा लड़की लापता हो गई थी। बाद में गांव के एक खेत में उसका शव मिला था, गैंगरेप के बाद लड़की को मार डाला गया था। इस वारदात के बाद समुदाय में जबरदस्त आक्रोश फैला जिसके बाद पिछले साल लाखों की तादाद में लोग सड़कों पर उतरे।

कोपर्डी कांड के आरोपी दलित समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। यही वजह है कि इस कांड के बाद मराठाओं में दलितों के प्रति भी आक्रोश बढ़ा। शायद यही वजह है कि समुदाय एससी/एसटी अत्याचार निरोधक कानून में बदलाव की मांग कर रही है।

देखिए वीडियोे

Over 2 lakh Maratha protesters bring Mumbai to standstill

Over 2 lakh Maratha protesters bring Mumbai to standstill#MarathaKrantiMorcha

Posted by Janta Ka Reporter on Wednesday, 9 August 2017

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here