बीजेपी सांसद मनोज तिवारी पर फर्जीवाड़े मामले में FIR

0

बीजेपी सांसद और भोजपुरी सुपरस्टार मनोज तिवारी पर भ्रामक प्रचार करने के आरोप को लेकर पटना के गांधी मैदान थाने में दो आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। सांसद मनोज तिवारी के साथ ही वास्तु विहार कंपनी के निदेशक, प्रबंध निदेशक समेत कुल नौ लोगों पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया है।

Phot 789

भाजपा सांसद पर आरोप है कि टेक्नोकल्चर कंपनी के ब्रांड एंबेसडर होने के नाते उन्होने सबसे सस्ती दर पर जमीन और फ्लैट देने का भ्रामक प्रचार किया जिससे सैकड़ो लोगों का करोड़ो रुपया डूब गया।

Also Read:  नोटबंदी पर डा. मनमोहन सिंह के 10 महत्वपूर्ण विशलेषण

दैनिक हिंदुस्तान के मुताबिक एक आपराधिक मामला पटना हाईकोर्ट के वकील चन्द्रभूषण वर्मा की पत्नी मीना रानी सिन्हा ने दर्ज कराया है। इसमें वास्तु विहार के टेक्नोकल्चर बिल्डिंग सेन्टर प्राइवेट कंपनी के ब्रांड एंबेसडर और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, कंपनी के निदेशक सुषमा कुमारी, प्रबंध निदेशक विनय कुमार तिवारी, दिनेश कुमार तिवारी, गौतम अरुण, रीतेश कुमार, ब्रजेश सिंह समेत नौ लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है।

Also Read:  विपासना से लौटने के बाद केजरीवाल ने चुनाव केलिए कसी कमर, अपने साथियों को दी राज्यों की ज़िम्मेदारियाँ

वही दूसरा आपराधिक मामला पटना हाईकोर्ट के अपर महाअधिवक्ता संजय प्रसाद ने दर्ज कराया है। इसमें बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, टेक्नोकल्चर र्बिंल्डग सेंटर प्राइवेट कंपनी के प्रबंध निदेशक विनय कुमार तिवारी और रीतेश कुमार को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। इस संबंध में गांधी मैदान थानाध्यक्ष निखिल कुमार के मुताबिक बीजेपी सांसद मनोज तिवारी और वास्तु विहार के निदेशकों के खिलाफ धोखाधड़ी के लगे आरोपों की पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Also Read:  अमेरिका में उमर अब्दुल्ला सेकेंडरी इमिग्रेशन चेक के लिए रोके गए, ट्वीट किया- मैं तो शाहरुख की तरह पोकेमॉन भी नहीं पकड़ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here