दिल्ली BJP में घमासान: मनोज तिवारी और विजय गोयल के विवाद से केंद्रीय नेतृत्व नाराज

0

केंद्रीय मंत्री विजय गोयल और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी के बीच विवाद की खबरें सामने आने के बाद केंद्रीय नेतृत्व ने भी कड़ी नाराजगी जाहिर की है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय नेतृत्व ने तिवारी और गोयल से अपने ‘मतभेद’ को सुलझाने के लिए कहा है। दोनों के बीच मनमुटाव की खबरों से पार्टी की छवि को हो रहे नुकसान के मद्देनजर उनसे से ऐसा करने को कहा गया है।

फोटो: The Indian Express

दिल्ली बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक के पहले दिन भी मनोज तिवारी और विजय गोयल के बीच चल रहे कथित ‘तकरार’ का मुद्दा हावी रहा। एक सूत्र ने बताया कि गोयल ने बीजेपी महासचिव (संगठन) से मुलाकात की और इसके बाद उन्होंने तिवारी के साथ भी बैठक की, जहां उन्होंने कहा कि दोनों ने अपने ‘मतभेद’ सुलझा लिए हैं।

दरअसल, विजय गोयल द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में नवनिर्वाचित पार्षदों को बुलाए जाने पर यह विवाद शुरू हुआ था। दिल्ली बीजेपी ने पार्षदों को कार्यक्रम में जाने से मना किया था। इसके बावजूद करीब 50 पार्षद कार्यक्रम में पहुचें थे। इसके बाद तिवारी ने इन पार्षदों को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

साथ ही तिवारी ने पार्टी ने इस कदम को अनुशासनहीनता करार देते हुए उन पार्षदों को लिखित नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। और पार्टी नेतृत्व ने गोयल के समारोह में शामिल हुए इन पार्षदों को नगर निगम में कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं देने का फैसला किया है।

यह घमासान तब खुलकर सामने आ गई जब केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने 16 मई को नव निर्वाचित पार्षदों के सम्मान में एक समारोह आयोजित किया था। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सम्मान समारोह से खुद को अलग कर लिया।साथ ही इसे कार्यक्रम को लेकर दिल्ली बीजेपी के महासचिव ने सभी पार्षदों को यह फरमान जारी कर दिया कि यह समारोह प्रदेश अध्यक्ष की मर्जी के खिलाफ आयोजित किया जा रहा है। इसलिए इस समारोह में कोई भी पार्षद भाग न लें।

रिपोर्ट की मानें तो चेतावनी के बावजूद गोयल के इस कार्यक्रम में नवनिर्वाचित 184 पार्षदों में से करीब 26-30 पार्षद शामिल हो गए, जिसमें जयप्रकाश, शिखा राय, संतोष पाल प्रमुख हैं। कार्यक्रम में दिल्ली बीजेपी के नेताओं, सांसदों, विधायकों और पार्षदों को आमंत्रित किया गया था। अब बीजेपी ने इन पार्षदों को लिखित नोटिस भेजकर जवाब मांगा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here