विवादों में आने के बाद मनोज तिवारी की सफाई, कहा-‘मकसद सिर्फ मर्यादा सीखाना था’

0

बीजेपी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने एक महिला टीचर द्वारा कथित तौर पर गाने की फरमाइश किए जाने पर जबरदस्त गुस्सा दिखाया था। इस मामले को सबसे पहले जनता का रिपोर्टर ने प्रकाशित किया था। लेकिन आज ये विवाद गर्माने के बाद सोशल मीडिया पर मनोज तिवारी की कड़ी निंदा होने लगी।

आपको बता दे कि तिवारी उस महिला टीचर को निलंबित करने की मांग पर अड़ गए थे व स्कूल प्रशासन से उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कहने लगे थे। इसके बाद उस टीचर ने जब बीजेपी सांसद से माफी मांगी तब उनका गुस्सा शांत हुआ।

इस मामले पर अब मनोज तिवारी खुद सामने आए है और कहा कि डांटने का मकसद सिर्फ मर्यादा सीखाना था। जबकि आम आदमी पार्टी ने मनोज तिवारी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए महिला आयोग से कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, इस मामले पर सफाई देते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि अगर किसी को मर्यादा बताई जाए तो क्या ये गलत है?  उन्होंने कहा कि अगर मनीष सिसोदियाजी कहीं जाएं और उनको एंकर कहे कि जरा डांस कर दीजिए, उसके बाद बात करिएगा। क्या आप उसको सही ठहराएंगे। अगर आपको लगता है कि यही मर्यादा है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूं।

देखें वीडियो मनोज तिवारी ने महिला टीचर को क्या कहा था।

इस मामले में अब आम आदमी पार्टी ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष व लोकगायक मनोज तिवारी के खिलाफ सरकार से जांच कराने और सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

आप की दिल्ली इकाई के संयोजक दिलीप पांडे ने शनिवार को कहा कि सार्वजनिक मंच पर तिवारी द्वारा महिला शिक्षक को अपमानित करना शर्मनाक हैै। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में उनकी इस हरकत को साफ तौर पर देखा जा सकता है।

उन्होंने आगे कहा कि इस तरह के कार्यक्रम में टीचर द्वारा गाने का अनुरोध किया जाना स्वभाविक था जिस पर तिवारी इस तरह भड़क गए। पांडे ने इसे गंभीर मामला बताते हुए राष्ट्रीय एवं दिल्ली महिला आयोग से इस घटना पर संग्यान ले कर माकूल कार्रवाई करने की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here