पर्रिकर का खुलासा- कश्मीर जैसे मुद्दों पर दबाव के चलते छोड़ा रक्षा मंत्री का पद

0

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि क्या कारण थे जिनके चलते उन्हें गोवा से दिल्ली और फिर दिल्ली से गोवा वापस जाना पड़ा। पर्रिकर ने खुले तौर पर स्वीकार किया कि कश्मीर जैसे कुछ अन्य प्रमुख मुद्दों का दबाव उन कारणों में से एक है, जिसके चलते उन्होंने रक्षा मंत्री की कुर्सी छोड़कर गोवा लौटने का फैसला किया।

बीते महीने चौथी बार गोवा के सीएम के तौर पर शपथ लेने वाले पर्रिकर ने यह भी कहा कि चूंकि दिल्ली उनके कार्यक्षेत्र का हिस्सा नहीं रहा है। वह वहां पर दबाव महसूस करते थे। पर्रिकर ने डा. बीआर अंबेडकर की 126वीं जयंती के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि दिल्ली में रक्षा मंत्री के तौर पर काम करने के दौरान कश्मीर जैसे मुद्दे उन कारणों में थे, जिसके चलते मैंने गोवा वापस लौटने का फैसला किया।

उन्होंने कहा कि मुझे जब मौका मिला तो मैंने गोवा वापस आने का फैसला किया। जब आप केंद्र में होते हैं, आपको कश्मीर और अन्य मुद्दों से निपटना होता है। पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि कश्मीर मुद्दे को सुलझाना एक आसान काम नहीं था और इसके लिए एक दीर्घकालिक नीति की जरूरत है।

पर्रिकर ने कहा कि कुछ चीजें हैं जिन पर कम चर्चा की जरूरत है। कश्मीर जैसे मुद्दों पर कम चर्चा और अधिक कार्रवाई की जरूरत है, क्योंकि जब आप चर्चा के लिए बैठते हैं तब मुद्दे जटिल हो जाते हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज उनके आदर्श हैं और वह चाहते हैं कि उनकी कुछ खूबियां उनके भीतर हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here