परमाणु हथियारों के पहले इस्तेमाल पर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का विवादित बयान

0

पाकिस्तान के साथ खराब रिश्तों के मौजूदा दौर के बीच रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि वो निजी तौर पर मानते हैं कि भारत को परमाणु हथियारों के पहले इस्तेमाल नहीं करने संबंधी नीति से अपने को नहीं ‘बांधना’ चाहिए इस बयान पर विवाद खड़ा हो गया है।

रक्षा मंत्री पर्रिकर ने कहा है कि भारत को परमाणु हमले के पहले इस्तेमाल करने वाली नीति से नहीं बंधना चाहिए। पर्रिकर ने कहा कि ये उनकी निजी राय है।

रक्षा मंत्री

पर्रिकर ने कहा ‘देश में बहुत सारे लोग पहले परमाणु हथियार इस्तेमाल नहीं करने संबंधी नीति के बारे में कहते हैं लेकिन मुझे इस मामले में अपने आपको क्यों बांधना चाहिए? मैं तो कहता हूं कि हम एक जिम्मेदार परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र हैं और मैं इसका गैर जिम्मेदाराना ढंग से इस्तेनमाल नहीं करुंगा। ये मेरी सोच है।’

उल्‍लेखनीय है कि रक्षा मंत्री ने एक बुक रिलीज कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। दरअसल सैद्धांतिक रूप से भारत संघर्ष होने की स्थिति में पहले परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल नहीं करने की बात कहता रहा है। पाकिस्‍तान ने इस तरह की कोई बात नहीं कही है।

भारत की परमाणु नीति पर बोलते हुए रक्षा मंत्री ने कहा, ”यदि कोई मौजूदा लिखित रणनीति है या आपने इस तरह का कोई स्‍टैंड ले रखा है तो मैं समझता हूं कि आप वास्‍तव में इस मामले में अपनी क्षमताओं से दूर हट रहे हैं।

देश में बहुत सारे लोग पहले परमाणु हथियार इस्‍तेमाल नहीं करने संबंधी नीति के बारे में कहते हैं लेकिन मुझे इस मामले में अपने आपको क्‍यों बांधना चाहिए? मैं तो कहता हूं कि हम एक जिम्‍मेदार परमाणु शक्ति संपन्‍न राष्‍ट्र हैं और मैं इसका गैर जिम्‍मेदाराना ढंग से इस्‍तेमाल नहीं करुंगा। ये मेरी सोच है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here