मनीष सिसोदिया ने चुनाव आयोग से पूछा- ‘ये ‘खुला चैलेंज’ खुले में आने की बजाय ‘लीक’ होकर क्यों आ रहा है?

0

चुनाव आयोग ने बुधवार (12 अप्रैल) को राजनीतिक दलों और विशेषज्ञों को खुली चुनौती देते हुए कहा कि आइए एवं ईवीएम हैक कीजिए और दिखाइए कि इन मशीनों से छेड़छाड़ की जा सकती है। जिसके बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने चुनाव आयोग पर तंज कसा है।

मनीष

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट में कहा, ‘ये ‘खुला चैलेंज’ खुले में आने की बजाय ‘लीक’ होकर मीडिया में क्यों आ रहा है? अभी तक चुनाव आयोग की ओर से न कोई चिट्ठी पत्री है ना प्रेस रिलीज!’ आखिर मीडिया में सूत्रों के हवाले से खबरें क्यों आ रही हैं, क्यों नहीं चुनाव आयोग कोई प्रेस नोट जारी करता है।

साथ ही उन्होेंने कहा कि, जब चुनाव आयोग के मार्फत मीडिया में यह खबरें आ रही हैं कि चुनाव आयोग अपनी ईवीएम मशीन को टेस्ट करवाने के लिए तैयार है तब वह सार्वजनिक तौर पर इसे क्यों नही जाहिर कर रहा है।

बता दें कि इस पहले बुधवार (12 मार्च) को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक खबर के साथ ट्वीट कर कहा था कि, सब कुछ हो सकता है, बस ईवीएम हैक नहीं हो सकती!!! इसे कुदरत का वरदान प्राप्त है!

बता दें कि, इससे पहले केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था कि खराब मशीनें केवल बीजेपी के ही पक्ष में वोट दिखाती हैं, वह खराब नहीं है इनका सॉफ्टवेयर बदल दिया गया है। चुनाव आयोग को उन्होंने चुनौती पेश करते हुए कहा कि चुनाव आयोग ऐसी खराब की गई मशीन को हमे सौंपे हम साबित करेंगे कि छेड़छाड़ी की गई है।

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश विधानसभा के चुनाव में भाजपा की भारी जीत के बाद बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर सवाल खड़े किए थे और इसके बाद से ही केजरीवाल और कई अन्य विपक्षी दल भी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here