दिल्लीः डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने CCTV मुद्दे को लेकर LG अनिल बैजल को लिखा पत्र, मिलने के लिए मांगा समय

0

दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगावाने की पहल पर उप-राज्यपाल अनिल बैजल द्वारा गठित की गई सीसीटीवी समिति को लेकर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज LG अनिज बैजल को पत्र लिखकर उनसे मिलने का समया मांगा है।

File Photo: PTI

उपराज्यपाल अनिज बैजल को लिखे पत्र में मनीष सिसोदिया ने लिखा कि, “मुझे आपको ये पत्र लिखते हुए बेहद खेद हो हो रहा है। दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए दिल्ली सरकार पूरी दिल्ली में CCTV कैमरे लगाना शुरु करने ही वाली थी की आपने इसे रोक दिया। इससे दिल्ली की जनता में बेहद रोष है।”

उन्होंने अपने पत्र में आगे लिखा कि, “सोमवार को दोपहर 3 बजे मुख्यमंत्री, सभी मंत्रियों और सभी विधायकों सहित इस संबंध में आपसे मिलने आएंगे। यदि समय उचित नहीं तो उसी दिन का कोई और समय दे दें ताकि हम आपसे इस बारे में बात कर सकें।”

बता दें कि, इससे पहले शुक्रवार(11 मई) को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उप-राज्यपाल अनिल बैजल द्वारा गठित की गई सीसीटीवी समिति की मंशा पर सवाल उठाए थे। इसके साथ ही सीएम केजरीवाल ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संबोधित करते हुए एक पत्र भी लिखा था।

अपने पत्र मे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा था कि, “आपने कुछ दिन पहले महिलाओं के साथ गलत काम करने वालों के खिलाफ सख्त सजा का प्रावधान किया इसके लिए आपको बधाई। पर जब तक जमीन पर व्यवस्था दुरुस्त नहीं की जाएगी, तब तक ये बातें कागजी ही रह जाएंगी। महिलाओं की सुरक्षा के लिए दिल्ली सरकार ने पूरी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू किया। पूरी दिल्ली के लोगों ने इसका खूब स्वागत किया। खासकर महिलायें बहुत खुश गो गई कि अब उनके इलाकों में भी सीसीटीवी कैमरे लगेंगे और उनकी और उनके परिवार की महिलाएं सुरक्षित महसूस करेंगी।”

उन्होंने अपने लेटर में आगे लिखा कि, “सीसीटीवी कैमरे लगने शुरु होने वाले थे, सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई थी। बजट पास हो गया थी, सारी आपत्तियों को दूर कर दिया गया, कैबिनेट की मंजूरी मिल गई थी। टेंडर हो  गए थे और क्रेंद सरकार की कंपनी बीईएल का ठेका दे दिया गया था। पूरी दिल्ली में कैमरे लगने शुरु होने वाले थे।”

“अचानक आपके एलजी साहिब ने बीच में आकर रोड़ा अटका दिया, उन्होंने हमें बिना बताए सीसीटीवी कैमरों पर एक कमिटी बना दी। प्रशन उठता है कि जब सारा काम हो चुका था, तो अब ये कमिटी क्यों बनाई? ये कमिटी आखिर क्या करेंगी? और अगर कमेटी बनानी ही तो हमसे बात करके बना लेते? हमारी पीठ पीछे, हमें बिना बताए कमिटी बनाई। इससे साफ जाहिर है कि आपके एलजी की नीयत खराब है। इस कमिटी का एक ही मकसद है- किसी भी कीमत पर अड़चने लगाकर सीसीटीवी कैमरे लगने से रोको।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here