VIDEO: ‘चमकी’ बुखार के कारण बच्चों की मौत पर समीक्षा बैठक में क्रिकेट वर्ल्डकप का स्कोर पूछ ट्रोल हुए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे

0

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार का प्रकोप जारी है। इंसेफलाइटिस के चलते पिछले करीब 20 दिनों में बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के कुछ जिलों के लगभग 120 बच्चों की मौत के बाद लोगों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। नाराजगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रविवार को यहां के सरकारी एसकेएमसीएच अस्पताल आए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को काले झंडे दिखाये गये। लोगों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए पुलिस भी सतर्क है और अस्पताल के आस-पास सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

चमकी

इस बीच बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का एक वीडियो सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में पांडेय अक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम को लेकर मंत्रियों और डॉक्टरों के बीच चल रही मीटिंग के दौरान भारत-पाकिस्तान क्रिकेट स्कोर के बारे में पूछ रहे हैं। घटना की गंभीरता को देखते हुए मंत्री की ऐसी संवेदनहीनता को लेकर उनकी काफी आलोचना हो रही है।

बता दें कि, बिहार में चमकी बुखार की आपदा के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने रविवार को मुजफ्फरपुर में श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (एसकेएमसीएच) का दौरा किया था। इसके साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे, बिहार सरकार के मंत्री मंगल पांडेय और डॉक्टरों के साथ एक हाई लेवल मीटिंग भी की। इस मीटिंग के दौरान मंगल पांडेय के दिमाग में भारत-पाकिस्तान के बीच मैनचेस्टर में चल रहा क्रिकेट मैच घूम रहा था।

समाचार एजेंसी एएनआई ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें दिख रहा है कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे इस गंभीर समस्या के बीच क्रिकेट वर्ल्डकप का स्कोर पूछ रहे हैं। स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे और केंद्रीय मंत्री हर्षवर्द्धन के साथ बैठे मंगल पांडे पूछते हैं, कितने विकेट हुए? इस पर कमरे में मौजूद कोई शख्स जवाब देता है, ‘चार विकेट’।

स्वास्थ्य मंत्री का यह वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा, “बिहार के भाजपा के स्वास्थ्य मंत्री, मंगल पांडे जी Encephalitis से हुई बच्चों की मृत्यु से ज़्यादा Cricket Score पर चिंतित नज़र आ रहे है। सरकार को पता होना चाहिये कि अब तक 126 मासूमों की जान गई है। मुज़फ़्फ़रपुर 104, वैशाली 12, मोतिहारी 2, सीतामढ़ी 2, समस्तीपुर 5 स्थिति कब संभालेंगे?”

एक यूजर ने लिखा, “आज जो लोग बिहार के स्वास्थ मंत्री को बुरा भला कह रहे हैं आने वाले चुनाव में येही लोग फिर से मंगल पांडे को ही वोट देकर चुनकर लाएंगे।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “संवेदनशील नही है छोटे छोटे बच्चे की मौत से, शायद इनके दिल मे पुराने खयालात बसे है और उसमें ग्रस्त है।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “मुझे लगा कि ये नौनिहालों के मौत का आंकड़ा पूछ रहे हैं….।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “डॉक्टर हो कर इतने संवेदनहीन कैसे हो सकते है आप, की मौत पर मैच का मज़ा ले रहे है। जीत में इतने मगरूर हो गए है की बच्चों की मौत भी मजे दे रही है। @NitishKumar जी तो चुनाव में और सदस्यता अभियान में इतने बिज़ी है की कान में तेल पेल लिए है और मंगल ने तो अमंगल का फैला दिया हैकी इसको तो।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here